कोलकाता: महीने भर से पलटे बांग्लादेशी जहाज को नहीं किया सीधा, मालिकों के…

कोलकाताः कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट (एसएमपी) ने स्पष्ट कर दिया है कि वह बांग्लादेशी जहाज एमवी मैरिनट्रस्ट-01 के 15 सदस्यीय चालक दल को तब तक शहर छोड़ने की मंजूरी नहीं दे सकता, जब तक कि उसके बचाव से संबंधित मुद्दों का समाधान नहीं हो जाता। इस साल 24 मार्च को बांग्लादेश में चटग्राम बंदरगाह के लिए कंटेनर लोड करने के बाद जहाज नेताजी सुभाष डॉक (एनएसडी) के बर्थ-5 पर पलट गया। अब एक महीने से अधिक हो गया है, लेकिन जहाज के मालिक द्वारा इसे बचाने के लिए कोई गंभीर प्रयास नहीं किया गया। एसएमपी का कहना है कि एनएसडी का बर्थ-5 ब्लॉक होने से उसे रोजाना करीब 40 लाख रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा है। बंदरगाह को अब तक लगभग 15 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। एमवी मरीन ट्रस्ट के चालक दल के सदस्य, जिन्हें अब कोलकाता के मरीन क्लब में आराम से ठहराया गया है, ने शहर में बांग्लादेश के उप उच्चायोग से प्रत्यावर्तन की मांग की है। उप उच्चायोग के अधिकारियों ने वरिष्ठ एसएमपी अधिकारियों से मुलाकात की और बताया गया कि चालक दल के सदस्य अभी शहर क्यों नहीं छोड़ सकते।

एसएमपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, जहाज के मालिकों ने एच एंड एम इंश्योरेंस या पी एंड आई इंश्योरेंस द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं होने वाला एक सैल्वर नियुक्त किया था। अब मालिकों ने जहाज को डूबे हुए स्थिति में छोड़ दिया है। अब जब मालिकों ने जहाज को छोड़ दिया है, एसएमपी या पी एंड आई क्लब को इसके पुन: तैरने और बर्थ के जीर्णोद्धार की जिम्मेदारी लेनी होगी। लोगों को निगरानी के लिए भी नियुक्त करना होगा।

बंदरगाह के अधिकारियों ने कहा कि एच एंड एम इंश्योरेंस ने एमवी मारिनट्रस्ट को कुल नुकसान घोषित नहीं किया है, इसलिए मालिक जहाज को बचाने की अपनी जिम्मेदारी से मुक्त नहीं हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः न्यू मार्केट के कपड़े की दुकान में लगी भयावह आग

कोलकाता: शहर में तड़के-तड़के दहशत फैल गई। न्यू मार्केट (चांदनीचॉक) के पास एक कपड़े की दुकान में आग लग गई। आग से आसपास की कुछ आगे पढ़ें »

ऊपर