केएमसी : बहुमंजिली इमारतों में रहने वाले अपने कचरे की जिम्मेदारी खुद लें

पहले बताना होगा कैसे करेंगे कचरा रिसाइकिल तब होगा बिल्डिंग प्लान सेंशन सन्मार्ग संवादाता
कचरा प्रबंधन के लिये केएमसी का बड़ा फैसला
कोलकाता : कोलकाता नगर निगम महानगर में कचरों की सफाई का कार्य करता चला आ रहा है। लेकिन अब कचरों की सफाई को लेकर निगम अपने नियमों में बदलाव किया है। केएमसी के कचरा प्रबंधन की ओर से बड़ा फैसला लिया गया है। अब बहुमंजिली इमारतों में रहने वाले लोगों को अपने कचरे की जिम्मेदारी खुद लेनी होगी। कोलकाता नगर निगम के सफाई कर्मी उनके घरों से निकलने वाले कचरों की सफाई नहीं करेंगे। यानि महानगर के जितने भी पुरानी इमारतें, स्कूल व कॉलेज है जहां पर 100 किलो से अधिक हर रोज कचरा निकलता है उन्हें उन कचरों को रिसाइकिल करने की जिम्मेदारी उस संस्था को खुद लेनी होगी। कोलकाता नगर निगम कि उन इमारतों से कचरा रिसाइकिल नहीं करेगा। इस फैसले को लेकर काफी लंबे समय से बात-चीत चल रही थी जिस पर अब निगम की ओर से मुहर लगाया गया है।
पहले बताना होगा कैसे करेंगे कचरा रिसाइकिल तब होगा बिल्डिंग प्लान सेंशन
कोलकाता नगर निगम की ओर से एक ओर बड़ा फैसला लिया है। जिसके अनुसार अब नये तौर पर तैयार होने वाली इमारतें या फिर स्कूल व कॉलेज के संस्थाओं को पहले कचरा कैसे रिसाइकिल करेंगे इसकी जानकारी कोलकाता नगर निगम को देनी होगी। उसके बाद ही उनका बिल्डिंग प्लान सेंशन किया जाएगा। अगर कचरा कैसे और कहां रिसाइकिल करेंगे इसकी व्यवस्था ना होने पर केएमसी बिल्डिंग प्लान सेंशन नहीं कर पाएगा। केएमसी सूत्रों की माने तो बिल्डिंग विभाग को इसके लिये अर्लट कर दिया गया है बिना कचरा रिसाइकिल व्यवस्था के बिल्डिंग प्लान सेंशन नहीं करना है। अगर ऐसा होता है तो उस अधिकारी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

घर में लाना चाहते हैं गुडलक और मां लक्ष्मी का वास तो मुख्य दरवाजे पर रखें ये चीजें

कोलकाता : घर में लाना चाहते हैं गुडलक और मां लक्ष्मी का वास तो वास्तु में बताए गए इन नियमों का पालन करना बहुत जरूरी आगे पढ़ें »

ऊपर