कैलाश विजयवर्गीय को हाई कोर्ट से मिली 30 तक राहत

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय सहित तीन भाजपा नेताओं को सोमवार को हाई कोर्ट से राहत मिल गई। जस्टिस देवांशु बसाक और जस्टिस रवींद्रनाथ सामंत के डिविजन बेंच ने उनकी गिरफ्तारी पर लगी रोक को 30 अक्टूबर तक बढ़ा दी है। बचाव पक्ष की तरफ से दलील दी गई कि सोमवार को ही सुप्रीम कोर्ट में इसकी सुनवायी होनी है इसलिए यहां सुनवायी टाल दी जाए।
यहां गौरतलब है कि जस्टिस विवेक चौधरी के आदेश के खिलाफ विजयवर्गीय आदि ने सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर की है। जस्टिस बसाक ने सरकारी पक्ष से जानना चाहा कि इस मामले की जांच में क्या कार्रवाई की गई है। एपीपी प्रसून दत्त ने बताया कि पीड़ित महिला का सीआरपीसी की धारा 164 और 161 के तहत बयान दर्ज कराया गया है। इसके साथ ही मेडिकल जांच भी करायी गई है। बताया गया कि जस्टिस विवेक चौधरी के 14 अक्टूबर के आदेश के बाद से यह कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही व्हाट्सएप की कापी पेश करते हुए दलील दी गई कि पीड़िता को मामला वापस लेने के लिए धमकी दी जा रही है। अगर अभियुक्तों को छोड़ दिया जाता है तो वे इतना प्रभावशाली हैं कि सारा साक्ष्य ही समाप्त कर देंगे। यहां गौरतलब है कि एक महिला ने कैलाश विजयवर्गीय, जिष्णु बसु और प्रदीप जोशी के खिलाफ सामूहिक बलात्कार करने का आरोप लगाया है। उसकी एफआईआर दर्ज करने के बाद मामले की जांच शुरू की गई है। जस्टिस हरीश टंडन के डिविजन बेंच ने उनकी गिरफ्तारी पर 25 अक्टबर तक के लिए रोक लगा दी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जवाद चक्रवात : हावड़ा प्रशासन अलर्ट पर, जायजा लेने पहुंचे मंत्री

हावड़ा फेरी परिसेवा अस्थायी तौर पर बंद, कई ट्रेनें रद्द हावड़ा : जवाद को लेकर राज्य समेत हावड़ा में बारिश शुरू हो चुकी है। रविवार की आगे पढ़ें »

ऊपर