मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों से मारपीट

हमले के आरोप में महिला मरीज के 6 परिजन गिरफ्तार
9 घंटे तक जूनियर डॉक्टरों ने काम रखा बंद
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में एक बार फिर जूनियर डॉक्टरों से मारपीट की गयी। ताजा घटना बहूबाजार थानांतर्गत कलकत्ता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल की है। यहां पर एक गर्भवती महिला मरीज के इलाज को केन्द्र कर दो जूनियर डॉक्टरों से मारपीट की गयी। आरोप है कि इमरजेंसी विभाग में आने पर जब महिला को कुछ देर बैठने के लिए कहा गया तो उसके परिजनों ने दो जूनियर डॉक्टरों से जमकर मारपीट की। घटना के विरोध में जूनियर डॉक्टरों ने कार्यस्थगन कर दिया। करीब 9 घंटे बाद एमएसवीपी द्वारा सुरक्षा का लिखित आश्वासन मिलने पर चिकित्सकों ने कार्यस्थगन वापस लिया। वहीं जूनियर डॉक्टरों की शिकायत पर पुलिस ने मरीज के 6 परिजनों को गिरफ्तार किया है।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार शनिवार की रात 10 बजे करया की रहनेवाली एक 6 माह की गर्भवती महिला मेडिकल कॉलेज के इडेन बिल्ड‌िंग में इलाज के लिए पहुंची थी। चिकित्सकों ने प्राथमिक जांच के बाद बताया कि महिला के गर्भ में मौजूद बच्चे की दो दिन पहले ही मौत हो गयी है। उस वक्त इमरजेंसी विभाग में और भी कई मरीज मौजूद थे। ऐसे में चिकित्सकों ने गर्भवती महिला को थोड़ा बैठने के लिए कहा। डॉक्टर की यह बात सुनकर महिला के परिजन वहां हंगामा करने लगे। महिला के परिजन जूनियर डॉक्टरों को उनके मरीज का इलाज पहले करने के लिए कहने लगे। इस दौरान ही अभियुक्तों ने दो जूनियर डॉक्टरों से मारपीट की। जूनियर डॉक्टर व प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बीमार महिला के गर्भ में बच्चे की दो दिन पहले मौत हो गयी है, इसकी जानकारी परिजनों को पहले से थी। पूरी जानकारी होने के बावजूद परिजनों ने जूनियर डॉक्टरों से मारपीट की। मारपीट के बाद जूनियर डॉक्टरों ने अनिश्च‌ितकाल के लिए कार्यस्थगन की घोषणा कर दी। बाद में जूनियर डॉक्टरों ने थाने में अभियुक्तों के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करायी। इधर, जूनियर डॉक्टरों के कार्यस्थगन के कारण इमरजेंसी के सभी विभाग में काम बंद हो गया। जूनियर डॉक्टरों के प्रदर्शन की खबर पाकर रात को ही एमएसवीपी मेडिकल कॉलेज में पहुंचे। उन्होंने जूनियर चिकित्सकों से बातचीत कर उनकी शिकायत सुनी। एमएसवीपी द्वारा सुरक्षा का लिखित आश्वासन मिलने पर चिकित्सकों ने कार्यस्थगन वापस लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पिता ने फेंका ख़राब मोबाइल तो बेटे ने कर ली आत्महत्या

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी ये आ रही है कि ख़राब मोबाइल पिता द्वारा फेंके जाने के कारण बेटे ने की आत्महत्या कर ली। आगे पढ़ें »

ऊपर