चंद सेकेंड के लिए अंधेरा छा गया, आंख खुली तो सभी एक दूसरे पर गिरे पड़े थे

रेड रोड दुर्घटना में घायल महिला ने बयां किया दर्द
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ड्यूटी पर जाने के लिए मैं मटियाब्रुज से हावड़ा जा रही मिनी बस में सवार हुई। बस में यात्रियों की भीड़ ज्यादा नहीं थी। सभी अपनी सीट पर बैठे थे। बस जब रेड रोड से गुजर रही थी तब उसकी स्पीड अधिक थी। इस दौरान अचानक चंद सेकेंड के लिए अंधेरा छा गया और आंख खुलते ही बस के अंदर सभी यात्रियों को एक दूसरे के ऊपर गिरा हुआ पाया। किसी के सिर से खून निकल रहा था तो किसी का हाथ टूट गया था। रेड रोड पर हुए मिनी बस दुर्घटना में घायल मुमताज खातुन ने उक्त बातें कहीं। हादसे में मुमताज के सिर में चोट आयी है। उसके सिर में 4 टांके लगे हैं। महिला ने बताया बस में बैठे यात्रियों की जान बच गयी, यही बहुत है। वहीं खिदिरपुर से स्ट्रैंड रोड जा रहा एक युवक भी बस दुर्घटना में घायल हो गया। उसके चेहरे में चोट लगने से सूजन आ गया है। घायल युवक ने बताया कि रेड रोड पर उठते ही ड्राइवर काफी तेज गति से बस चलाने लगा। इस दौरान उसे पार्क स्ट्रीट की तरफ बस को मोड़ना था लेकिन ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से बस सामने जा रहे एक बाइक सवार को कुचला और फिह बाइक सवार को घसीटते हुए सड़क किनारे बने रैलिंग से जा टकराया। युवक ने बताया कि रेलिंग से टकराने के कुछ देर बाद तक ड्राइवर अपनी सीट पर बैठे रहा।वह भी कुछ देर के लिए हतप्रभ रह गया था। हालांकि स्थानीय लोगों और पुलिस के आते ही ड्राइवर और कंडक्टर अचानक गायब हो गए।
डलहौसी स्थित ऑफिस जा रहा था पुलिस कर्मी
पुलिस सूत्रों के अनुसार झाड़ग्राम के रहनेवाले विवेकानंद देव कोलकाता पुलिस के आरएफ विभाग में कार्यरत है। गुरुवार की दोपहर वह हावड़ा स्थित अपने घर से डलहौसी स्थित कार्यालय जाने के लिए बाइक से निकले थे। वह रेड रोड से गुजर रहे थे तभी मिनी बस के ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से ड्राइवर ने उसेको रौंद दिया। बस के निचले हिस्से में वह बुरी तरह फंस गया। करीब आधे घंटे बाद क्रेन की मदद से बस को उटाने पर पुलिस कर्मी को उद्धार कर अस्पताल पहुंचाया । अस्पताल में इलाज के दौरान ही पुलिस कर्मी की मौत हो गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ताकि चकमा न दे कोविड, जिनोमिक्स सिक्वेंसिंग केवल .5% जरूरत 3%-4% की

67%-70% में सेकेंड वेव में हो चुका है इंफेक्शन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के सेकेंड वेव का असर धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। हालांकि अब आगे पढ़ें »

ऊपर