कोलकाताः लैब से अस्पताल में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने में लग गये 14 साल

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एक लैब से अस्पताल तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने में सप्ताह, महीना साल नहीं बल्कि 14 साल लग गये। मामला चितपुर थाना स्थित वर्ष 2008 के अक्टूबर का है। उस दौरान एक शव परीक्षण किया गया था। मृतक के शरीर के नमूने जांच के लिए राज्य फोरेंसिक साइंस लाइबोटरी में भेजा गया था। मृतक सौदीप कुंडू की फॉरेंसिक रिपोर्ट आरजीके मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों को करीब 14 साल बाद पिछले साल अप्रैल में मिली। चितपुर थाना इलाका में ही 2010 साल में और एक मामला आया था उस दौरान भी एक रिपोर्ट आने में 12 साल लग गये। पोस्टमार्टम के बाद मो. अकरम का विसरा एवं रक्त एफएसएल में भेजा गया था। कहा गया है कि वह रिपोर्ट करीब बारह साल बाद आयी। मुर्शिदाबाद में 2008 साल का एक पोस्टमार्टम विसरा रिपोर्ट इस महीने बरहमपुर मेडिकल कॉलेज के फारेंसिक विभाग के पास पहुंची है। डॉक्टरों का कहना है कि 12 – 14 साल बाद रिपोर्ट मिलने पर लोग कैसे न्याय पायेंगे। हत्या, आत्महत्या या फिर दुर्घटना कोई भी सिद्धांत सटीक रूप से नहीं आ सकेगा। अधिक विशेष रूप से व्यक्ति के विसरा या देहरोस परीक्षा की रिपोर्ट अंतिम होती है। इसके आधार पर ज्यादातर मामलों में जांच की प्रगति संभव है। इमरजेंसी फोरेंसिक रिपोर्ट 14 साल बाद भी एक युग में अस्पताल पहुंच रही है। राज्य के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में शव परीक्षण में शामिल अनुभवी डॉक्टर बेलगछिया स्टेट फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) से कुछ रिपोर्ट प्राप्त कर हैरान रह गए। आरजीके अस्पताल में फोरेंसिक विभाग के प्रमुख डॉ सोमनाथ दास ने कहा कि उन्हें रिपोर्ट बहुत देर से मिल रही है। इस पर ध्यान देने से लोगों को फायदा होता है। इसी तरह से बहरमपुर मेडिकल कॉलेज के प्रमुख डॉ. बिप्लब शी ने कहा, 14 साल बाद फोरेंसिक रिपोर्ट देखकर हैरान हूं। कलकत्ता मेडिकल कॉलेज में फोरेंसिक के प्रमुख डॉ विश्वजीत सुकुल ने कहा कि हाल ही में स्थिति में थोड़ा सुधार हुआ है। समय पर रिपोर्ट मिलना बहुत जरूरी है। बेलगछिया स्टेट फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और निदेशक संजय मुखर्जी ने कहा, हम कर्मचारियों के संकट से त्रस्त हैं। इसे पूरा करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

4 दिन में दूसरी बार ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर दिखी दरार

कोलकाता : ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर बीते 4 दिन में दूसरी बार दरार देखी गयी है। ऐसे में दरार वाले हिस्से को बैरिकेड आगे पढ़ें »

ऊपर