श्मशान में शवों से उठी चिंगारी ने इलाके में फैलाया आतंक

इलाके के लोगों ने जताया आक्रोश
शवदाह करवाने के लिए मोटी रकम लूटने का भी लगा आरोप
बारासात : बाहर से कोरोना मरीजों के शवों को रात के अंधेरे में पैसे लेकर देगंगा 1 नंबर ग्राम पंचायत के बेलियाघाटा इलाके में गंगा घाट के किनारे श्मशान में जलाये जाने की शिकायतें सामने आयी हैं। रात दिन वहां कोरोना मरीजों के शवों को जलाये जाने को लेकर इलाके के लोगों में आतंक फैल गया है और अब वे इसे बंद करने की मांग कर रहे हैं। इलाके के लोगों का आरोप है कि कई मरीजों के शव चुपचाप यहां जला दिये जा रहे हैं जिनकी जांच तक नहीं करवायी गयी है। आरोप है कि बारासात, बादुड़िया, कोलकाता के भी विभिन्न इलाकों से लोग कोरोना मरीजों के शवों को लेकर यहां श्मशान पर आ रहे हैं। इसके लिए उसने अच्छे खासे पैसे भी लेकर कुछ लोग इस काम को अंजाम दे रहे हैं। इलाके में रहने वाले लोगों का आरोप है कि श्मशान से निकला धुंआ इस पूरे गांव के पर्यावरण को भी प्रभावित कर रहा है ​जिससे यहां ज्यादा संक्रमण फैलने की आशंका फैल गयी है। पहले ही गांव में दर्जनों लोग कोरोना की चपेट में हैं। शनिवार को आखिरकार ग्रामवासियों को क्षोभ भी सामने आया और उन्होंने अविलंब यहां कोरोना मरीजों के शवों को जलाने को बंद करने की मांग की। उनका कहना है कि इस तरह से मोटी रकम लोगों से लूटना भी गलत है अतः जरूरी है कि प्रशासन शवों के अंतिम संस्कार की व्यवस्था को सहज करवाये। देगंगा-1 के अधिकारी अब्दुल उदुत मिंटू ने का कहना है कि ऐसी शिकायतें उनके पास आयी हैं जिसकी जांच शुरू की गयी है। उनका कहना है कि इन घटनाओं में जो कि जुड़ा है उनके दोष साबित होने पर हम कठोर कार्रवाई करेंगे। फिलहाल स्थानीय लोगों की इन शिकायतों पर श्मशान में आने वाले शवों को पूरा ब्यौरा लेने का काम शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों से बातचीत कर उन्हें समझाया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेट कंट्रोल के साथ आपके मन को शांत रखती हैं ये पांच छोटी-छोटी बातें

कोलकाताः मन अशांत रहने का असर हमारे खाने-पीने की आदतों पर भी पड़ता है। मौजूदा समय में जिस तरह दुनिया अस्त-व्यस्तता से गुजर रही है, उसकी आगे पढ़ें »

बच्चों व महिलाओं के लिए 10 हजार बेड तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

बच्चों के लिए स्पेशल कोविड बेड हर अस्पताल में थर्ड वेव के मद्देनजर तैयारियां जोरों पर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी के सेकंड वेव ने स्वास्थ्य आगे पढ़ें »

ऊपर