त्रिपुरा में अभिषेक की पदयात्रा को नहीं मिली इजाजत

कल आयोजित होने वाली थी तृणमूल की पदयात्रा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता/त्रिपुरा : त्रिपुरा में कल तृणमूल की आयोजित होने वाली पदयात्रा के लिए स्थानीय प्रशासन की तरफ से इजाजत नहीं दी गयी। बुधवार को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बंद्योपाध्याय पदयात्रा निकालने वाले थे। प्रशासन के साथ हुई खींचतान के कारण एक बार फिर त्रिपुरा में तृणमूल ने भाजपा पर निशाना साधा है।
जानकारी के अनुसार पुलिस की ओर से बताया गया है कि इस राज्य में नियमानुसार रैली के 72 घंटे पहले लिखित आवेदन देकर अनुमति मांगी जाती है। रैली का रूट क्या होगा, कौन-कौन इस रैली में शामिल होंगे, यह समस्त जानकारी दर्ज की जाती है। पुलिस की माने तो तृणमूल की तरफ से लिखित में यह जानकारी नहीं दी गयी है, जिसके कारण रैली की अनुमति नहीं दी गयी। पुलिस का कहना है कि उसी दिन उसी समय पर उसी रूट पर दूसरे राजनीतिक पार्टी का प्रोग्राम है जिन्होंने लिखित रूप में अनुमति मांगी है। यही कारण है कि तृणमूल की जगह दूसरी पार्टी को अनुमति मिली है। दूसरी तरफ तृणमूल की ओर से पुलिस के दावों को खारिज किया गया है तथा दावा किया गया है कि नियमों के आधार पर ही अनुमति मांगी गयी थी। पार्टी प्रवक्ता कुणाल घोष का कहना है कि त्रिपुरा सरकार तृणमूल से डर रही है। इसी वजह से तृणमूल और अभिषेक के राजनीतिक कार्यक्रम को इजाजत नहीं दी गयी। उन्होंने कहा ​कि हमने सुना है किसी और राजनीतिक दल के कार्यक्रम को इजाजत दी गयी है। हमें इससे संबंधित चिट्ठी मिली है, अब आगे क्या करना है इस पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। मालूम हो कि त्रिपुरा में तृणमूल की जमीन मजबूत करने के लिए खुद अभिषेक लगातार वहां का दौरा कर रहे हैं। इसी कड़ी में 15 सितंबर को वहां अभिषेक की पदयात्रा है। जानकारी के अनुसार इसी दिन वाम युवा संगठन की तरफ से राजभवन अभियान है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जब बाहर का मौसम बहुत गर्म हो तो किस पोजीशन में करें सेक्स

कोलकाता : गर्मियों के मौसम में सेक्स करना बहुत से लोगों के लिए परेशानी बन जाता है। गर्माहट का मौसम आते ही लोग सेक्स करना आगे पढ़ें »

ऊपर