भाजपा में बाबुल का चैप्टर क्लोज, भूत नहीं भविष्य के लिए काम करेगी पार्टी : हरदीप​ सिंह पुरी

मधु सिंह
कोलकाता : राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सामने भाजपा ने भवानीपुर से प्रियंका टिबरेवाल को चुनावी मैदान में उतारा है। हालांकि एक तरफ भवानीपुर में उपचुनाव हैं तो दूसरी ओर, भाजपा से तृणमूल में लगातार दलबदल हो रहे हैं। इसके अलावा पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष को बदलते हुए नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। इन सबके बीच, भवानीपुर उपचुनाव के चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय पेट्रोलियम व आवासन मंत्री हरदीप सिंह पुरी कोलकाता पहुंचे। पेट्रोल – डीजल की बढ़ती कीमतों से लेकर राजनीति से जुड़े ​विभिन्न मुद्दों पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सन्मार्ग से खास बातचीत की।
* पेट्रोल – डीजल पर जीएसटी नहीं लगाने का क्या कारण है ?
यूं तो जीएसटी लगाना वित्त मंत्रालय के अधीन है, लेकिन जहां तक पेट्रोल-डीजल की कीमतों का सवाल है ताे इसके लिए राज्य सरकारों को कदम उठाये जाने की जरूरत है। पश्चिम बंगाल सरकार ने जुलाई से अब तक 3.51 पैसे बढ़ा दिये, सभी टैक्स को मिलाकर जो 40% है। अगर पश्चिम बंगाल सरकार इसे नहीं बढ़ाती तो केरल और तमिलनाडु की तरह यहां भी पेट्रोल की कीमतें 100 रु. के नीचे होती। राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम किया जा रहा है। 2010 में कांग्रेस की सरकार ने पेट्रोल को नियंत्रण मुक्त किया था, अपने समय में कांग्रेस ने पेट्रोल का दाम नीचे रखने के लिए ऑयल बॉन्ड्स फ्लोट कर दिये 1 लाख 40 हजार करोड़ के जिसका 20 हजार करोड़ सालाना केंद्र को देना पड़ रहा है। इसके अलावा पेट्रोल व डीजल के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार पर भी निर्भर करते हैं। केंद्र सरकार 1 लीटर पर 32 रु. चार्ज करती है जिसमें हमने पीएम आवास योजना, 80 करोड़ लोगों को अनाज, वैक्सीन दी। हम 32 रु. से ये सब कर रहे हैं, और हमारा 32 रु. तय रहता है जबकि राज्यों का रिवेन्यू बढ़ता रहता है। कोई अपना रिवेन्यू नहीं छोड़ना चाहता है, कार्रवाई राज्य सरकारों को करनी है जबकि निशाना केंद्र पर किया जा रहा है।
* एक बार फिर पश्चिम बंगाल चुनाव में भाजपा पीछे रह गयी। क्या कारण मानते हैं ?
ये तो देखिये कि पार्टी कहां से कहां पहुंच गयी। देश भर में हमारे दो नेता थे वाजपेयी जी और आडवाणी जी, अब हमारे पास 303 सीटें हैं। इसी तरह बंगाल में भी था, लेकिन अब बंगाल में हम मुख्य विपक्ष बन गये हैं। भाजपा का बंगाल से यूं ही पुराना रिश्ता रहा है। भारतीय जन संघ के समय से पार्टी का बंगाल से संबंध रहा है जो धीरे – धीरे और मजबूत हुआ है। अभी यूपी समेत और राज्यों में चुनाव होने वाले हैं, यहां भी उपचुनाव होने वाले हैं। ये लोकतांत्रिक प्रक्रिया हमारे देश में चलती रहती है और हर निर्णय को हम पूरे उत्साह के साथ स्वीकार करते हैं।
* चुनावी नतीजों के बाद से अब तक सांसद बाबुल सुप्रियो व 4 विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं। इसे कैसे रोकेंगे ?
आप सीरियसली सोचती हैं कि बाबुल सुप्रियो के पार्टी छोड़ने से भाजपा को कोई नुकसान हुआ है ? यूं तो वे मेरे मित्र थे, आवासन के राज्य मंत्री रहे हैं जिसका अब मैं मंत्री हूं। जब हमारे कैबिनेट का विस्तार हुआ उस समय तक उनके सोशल मीडिया फीड पढ़िये, वे क्या कह रहे थे, जब वे ड्रॉप हो गये तो फिर अचानक कहते हैं कि मैं प्लेइंग 11 में होना चाहता हूं, कौन सी प्लेइंग 11 की वे बात कर रहे हैं। बाबुल सुप्रियो जी के बारे में और क्या बताऊं। किसी भी लोकतंत्र में दलबदल संभव है। तृणमूल में भी जो आये, वे कांग्रेस से आये, कुछ हमारी तरफ आ गये।
* भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बदले गये हैं। इस पर क्या कहेंगे ?
दिलीप घोष की मियाद खत्म होने वाली थी, मैंने अपनी एक किताब में कहा था कि जब 16 साल तक सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं, उस दौरान हमने 6 भाजपा अध्यक्ष बदले। हमारी पार्टी में अलग – अलग क्षेत्रों से लोग आते हैं, इसमें कोई संदेह नहीं कि दिलीप घोष का पार्टी में बड़ा योगदान है, लेकिन पार्टी अपने नियमों के अनुसार चलती है।
* देश में ममता बनर्जी को विपक्ष का चेहरा मानते हैं ?
ममता बनर्जी को मेरी ओर से बेस्ट विशेस। एक बार वह तय कर लें कि वह राष्ट्रीय विपक्ष का चेहरा बनना चाहती हैं और उसमें सभी पार्टियां मान जाएं तो अच्छा है। मैं कौन होता हूं उनको मानने वाला, मैं ताे भाजपा का एक कार्यकर्ता हूं, मैं अपनी ओर से क्लियर हूं और चाहता हूं कि कोई योग्य विपक्ष का चेहरा बने क्योंकि कांग्रेस की तो 2014 और 2019 के चुनाव मिलाकर भी 100 सीटें नहीं बनतीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दुर्गापुर अन्नपूर्णा नगर में बमबाजी से हड़कंप

दुर्गापुर: दुर्गापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत अन्नपूर्णा नगर इलाके में शनिवार की रात कुछ अज्ञात लोगों द्वारा बमबाजी करने एवं वाहनों में तोड़फोड़ करने से हड़कंप आगे पढ़ें »

ऊपर