आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया नया कोविड प्रोटोकॉल

मोनोक्लोनल एंटीबॉडी थेरेपी व मोलनूपिरावीर को रखा गया चिकित्सा पद्धति से बाहर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः स्वास्थ्य विभाग ने कोविड की तीसरी लहर को रोकने के लिए राज्य में चिकित्सा व्यवस्था में स्वच्छता के नए नियम जारी किए हैं। आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग की ओर से नया कोविड प्रोटोकॉल 2022 मंगलवार को जारी किया गया। इसमें बुखार और सांस लेने में तकलीफ के दौरान मोंटियर एलसी या मोंटिक टैबलेट के इस्तेमाल पर जोर दिया गया है। मोनोक्लोनल एंटीबॉडी थेरेपी सभी कोरोना मरीजों पर लागू नहीं की जा सकती है। ऐसे में इसे फिलहाल नए कोविड प्रोटोकॉल में अलग रखा गया है। इसके अलावा मोलनूपिरावीर दवा को भी नए प्रोटोकॉल में हटा दिया गया है। ऐसी ही कुछ बातों का जिक्र स्वास्थ्य भवन की ओर से जारी नई गाइडलाइंस में किया गया है। अब से राज्य में कोविड मरीजों के इलाज के लिए इस नए प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।
नई गाइडलाइंस के कुछ तथ्य
हल्का बुखार, सर्दी-खांसी होने पर पैरासिटामोल का सेवन करना चाहिए। इनहेलर का उपयोग किया जा सकता है। मोंटियर एलसी या मोंटिक टैबलेट लेने की सलाह दी गई है। बीमारी गंभीर होने पर भी स्टेरॉयड नहीं लगाया जा सकता है। बिना लक्षण वाले या हल्के लक्षण वाले मरीजों को घर पर ही आइसोलेशन में रखा जाना चाहिए। यदि ऑक्सीजन का स्तर कम है, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। नए प्रोटोकॉल में कहा गया है कि सभी कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती नहीं किया जा सकता है। स्वास्थ्य भवन ने कहा कि प्राथमिक लक्षण सांस की तकलीफ और बुखार हैं। यदि आप जानना चाहते हैं कि श्वास सामान्य है या नहीं, यदि आपको लगातार 8 मिनट चलने के बाद भी अस्थमा या सांस की तकलीफ नहीं है, तो आपको समझना चाहिए कि सब कुछ ठीक है। थोड़ी सी भी परेशानी होने पर मरीजों को इनहेलर का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि ऑक्सीजन का स्तर 94 से नीचे गिर जाता है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करने की आवश्यकता है। जो कोरोना मरीज घर में आइसोलेशन में हैं, उन्हें इनहेलर और पैरासिटामोल जरूर रखना चाहिए। सूत्रों के मुताबिक मोनोक्लोनल एंटीबॉडी और मोलनूपिरावीर को लेकर केंद्र की ओर से कोई निर्देश नहीं मिला है। केंद्रीय गाइडलाइंस में इसका जिक्र तक नहीं है। इसलिए राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने इन दोनों तरीकों को कोरोना के इलाज से बाहर करने का फैसला किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग: भारत में मिला ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BA-2

नई दिल्ली: दुनियाभर में कहर ढा रहे कोरोना के ओमिक्रॉन वर्जन के बीच वायरस के एक और वैरिएंट का खतरा मंडराने लगा है। इस वैरिएंट आगे पढ़ें »

ऊपर