कांग्रेस से समझौता हुआ तो अलग हो जाएगा फाब

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कांग्रेस के साथ आगे किसी तरह के समझौते के लिए फारवर्ड ब्लॉक (फाब) तैयार नहीं है। सोमवार को वाममोर्चा की बैठक में ये बात फाब ने बता दी है। सूत्रों के अनुसार, बैठक में फाब के प्रदेश सचिव नरेन चट्टोपाध्याय ने बताया कि आगे अब कांग्रेस को साथी बनाकर फाब चुनावी जंग में नहीं जाना चाहता है। अगर इसके बावजूद ऐसा हुआ तो वाममोर्चा के नाम के साथ फाब को चुनावी लड़ाई लड़ने पर भी आपत्ति होगी। आगामी कुछ दिनों में ही कोलकाता व हावड़ा नगर निगम चुनाव की घोषणा की जाएगी। इस चुनाव में वाममोर्चा व कांग्रेस को साथ मिलकर लड़ने की बात माकपा नेता विमान बोस व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कही थी। फाब के प्रदेश सचिव नरेन चट्टोपाध्याय ने कहा, ‘कांग्रेस को लेकर हमारी जो आपत्ति है, वह बात हमने वाममोर्चा को बतायी है।’ इधर, घटक दल के ऐसे दावे के कारण माकपा नेताओं पर दबाव भी बढ़ गया है क्योंकि एक ओर जहां वे वामफ्रंट को अक्षुण्ण रखना चाहते हैं, वहीं राज्य की राजनीति में तृणमूल व भाजपा का मुकाबला करने के लिए कांंग्रेस के साथ चुनावी समझौता भी चाहते हैं। माकपा नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा, ‘निगम व पंचायत चुनाव के क्षेत्र में जिला नेतृत्व निर्णय लेता है, वहां ऐसी राजनीतिक पार्टियां भी रहती हैं जो वामफ्रंट में नहीं है। जहां कांग्रेस का अस्तित्व है, उन सभी जिलों में भी कांग्रेस इस तरह की चर्चा में शामिल होगी। हर क्षेत्र में जिला सदर से निर्णय आता है, उस पर हम कुछ कहना रहता है तो कहते हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रूपा के बगावती तेवर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में चुनाव की रणनीति तय करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के बीच आगे पढ़ें »

ऊपर