बनगांव में विश्वजीत के सैकड़ों अनुयायी शामिल हुए तृणमूल में

भाजपा संगठन को भारी धक्का लगने की है चर्चा
भाजपा ने कहा-पहले से ही कर रहे थे ये दलविरोधी कार्य
बनगांव : बागदा के भाजपा विधायक विश्वजीत दास के भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल होने के बाद अब उनके कई भाजपा कर्मी-समर्थकों ने भी पार्टी बदल कर लिया है। शुक्रवार को बनगांव के बाटा मोड़ इलाके में तृणमूल के एक कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में भाजपा के कर्मी-समर्थकों के तृणमूल का झंडा थाम लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि विधायक विश्वजीत दास को भाजपा में काम करने का मौका नहीं मिल पा रहा था। वहां काम का कोई माहौल नहीं अतः उनके फैसले का स्वागत करते हुए उन्होंने भी इस ओर ही रुख किया है ताकि वे लोग भी नगरवासियों के लिए काम कर सकें। कार्यक्रम में इन कर्मियों को पार्टी का झंडा थमाया बनगांव जिला कमेटी की अध्यक्ष आलोरानी सरकार, चेयरमैन शंकर दत्त, तृणमूल नेता व बनगांव पालिका के प्रशासक गोपाल सेठ, श्रमिक नेता नारायण घोष व अन्य जिला तृणमूल संगठन नेताओं ने। तृणमूल में शामिल होने वालों में शामिल रहें बनगांव उत्तर-पूर्व मंडल की भाजपा अध्यक्ष शोभन बैद्य, सचिव विप्लव पाल, अल्पसंख्यक मोर्चा की कन्वेनर बेबी मंडल, बनगांव जिला ​किसान मोर्चा के सचिव राजू विश्वास, बनगांव पालिका महिला मोर्चा की सचिव शर्मिष्ठा बर्द्धन व अन्य। इन नेता-कर्मियों के पार्टी से चले जाने पर भाजपा को भारी धक्का लगने की बात कही जा रही है। इस मामले में जिला तृणमूल अध्यक्ष आलोरानी सरकार ने कहा कि भाजपा में कोई नहीं रहेगा क्योंकि वह जनहित की नहीं स्वयं हित की राजनीतिक होती है। उन्होंने कहा कि बनगांव में भाजपा की संगठन अब काफी कमजोर हो चुकी है। वहीं अंचल के भाजपा नेता ने देवदास मंडल ने इस पार्टी बदल को लेकर कहा कि जिन्होंने पार्टी छोड़ी है वे चुनाव के पहले से ही दल विरोध कार्य कर रहे थे। पार्टी ने उन्हें सस्पेंड कर रखा था। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के पार्टी छोड़ने से पार्टी का भला ही हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बंगाल से दो ने यूपीएससी परीक्षा में लहराया परचम

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः इस बार संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा में बंगाल से दो अभ्यर्थियों ने परचम लहराया है। बंगाल सरकार की यूपीएससी परीक्षा आगे पढ़ें »

ऊपर