कितना भार उठाया जा सकता है, कोलकाता के व्यस्तम 5 बड़े फ्लाईओवर का हुआ टेस्ट

एजेसी बोस फ्लाईओवर, गरियाहाट फ्लाईओवर, खिदिरपुर फ्लाईओवर, पार्क स्ट्रीट फ्लाईओवर तथा काशीपुर लॉक गेट
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : माझेरहाट ब्रिज हादसे के बाद से ही महानगर के फ्लाईओवरों तथा ब्रिजों के हेल्थ पर सवाल उठे। कोलकाता के कई ब्रिज बुढ़ापे की दहलीज पर है तो कुछ समय से पहले ही बूढ़े हो गये हैं। माझेरहाट ब्रिज जैसा हादसा फिर नहीं हो इसके लिए एक्सपर्ट नियमित रूप से फ्लाईओवर तथा ब्रिज की जांच की सलाह देते आये हैं। एचआरबीसी भी इस मामले में कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता है। हाल में ही एचआरबीसी ने अपने अधीन सभी 6 फ्लाईओवर का हेल्थ चेकअप कराया है। इन 6 फ्लाईओवर में से 5 कोलकाता के सबसे व्यस्तम फ्लाईओवर हैं। ये हैं एजेसी बोस फ्लाईओवर, गरियाहाट फ्लाईओवर, खिदिरपुर फ्लाईओवर, पार्क स्ट्रीट फ्लाईओवर तथा काशीपुर स्थित लॉक गेट फ्लाईओवर। इसके अलावा दमदम के नागेरबाजार फ्लाईओवर का भी चेक अप किया गया है। एचआरबीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एचआरबीसी के अधीन सभी फ्लाईओवर का चेक अप नियमित होता है। अभी हाल में ये 6 जिनमें फ्लाईओवर शामिल हैं उनका हेल्थ चेक अप कराया गया है। हेल्थ चेकअप में देखा गया है कि फ्लाईओवर की क्या हालत है, क्या इलाज की जरूरत है, कितने वाहनों का वजन उठा सकती है।
एक्सपर्ट ने सौंपी है रिपोर्ट
सन्मार्ग से बातचीत करते हुए वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राइट् के एक्सपर्ट ने सर्वे किया है, रिपोर्ट में सभी ठीक है केवल एक फ्लाईओवर में मामूली मरम्मत की आवश्यकता है। इससे पहले भी पार्क स्ट्रीट फ्लाईओवर का भार वहन क्षमता टेस्ट किया गया था जिसकी वजह से कुछ समय के लिए इसे बंद किया गया था
व्यस्त फ्लाईओवर पर हेल्थ चेक अप में होती ये परेशानियां
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ये सभी फ्लाईओवर ही बेहद अहम तथा व्यस्त रहता है। यहां काम शुरू करने से पहले काफी कुछ प्लानिंग करना पड़ता है, क्योंकि इन फ्लाईओवर पर वाहनों को रोकने से कोलकाता की ट्रैफिक व्यवस्था से निश्चित रूप से असर पड़ता है। हम पुलिस को धन्यवाद देना चाहते हैं कि वे काम में काफी मदद करते हैं।
एक नजर हेल्थ चेक अप की मुख्य बातों पर
* फ्लाईओवरों की उम्र देखी जाती है।
* किस ब्रिज व फ्लाईओवर में क्या कमी है, जिसे बिना किसी विलंब के ठीक करना है।
* फ्लाईओवर पर तुरंत भारी वाहनों पर रोक लगानी है या नहीं।
* जरूरत पड़ी तो किसी-किसी फ्लाईओवर का फिर से निर्माण किया जा सकता है।
* जब फ्लाईओवर तैयार हुआ था उस समय कितने वाहन गुजरते थे और अभी कितने गुजरते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए ममता बनर्जी से मांगा समर्थन, मिला ये जवाब

नई दिल्ली : राष्ट्रपति चुनाव 2022 के लिए एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने अपना नामांकन दाखिल कर लिया है। इस दौरान खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र आगे पढ़ें »

ऊपर