थर्ड वेव के लिए अस्पताल हो रहे तैयार, पेडियाट्रिक बेड बढ़ाया

एमआर बांगुर सहित अन्य अस्पताल भी बढ़ा रहे बुनियादी सुविधाएं
कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के सेकेंड वेव से अब भी देश जूझ रहा है। इस बीच थर्ड वेव को लेकर भी चर्चा जारी है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो इसके लिए सभी अस्पतालों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। साथ ही बुनियादी सुविधाओं को बढ़ाने के लिए कहा गया है।
एनआरएस में 25 पेडियाट्रिक आईसीयू जल्द
एनआरएस मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल के प्रिंसिपल प्रो.(डॉ.) सैबल कुमार मुखर्जी ने बताया कि अस्पताल कोविड को लेकर काफी सतर्क है। सेकेंड वेव में भी बड़े पैमाने पर मरीजों को परिसेवा दी जा रही है। हालांकि अब कोविड के मामले काफी नियंत्रण में आ रहे हैं। इसके बावजूद हम थर्ड वेव की आशंका के मद्देनजर तैयार हो रहे हैं। इसी क्रम में पेडियाट्रिक आईसीयू की बेड की संख्या बढ़ाकर 25 की जाएगी। वर्तमान में यहां 12 बेड है। एमआर बांगुर सहित कई अन्य अस्पताल भी बुनियादी सुविधाओं को और विकसित कर रहे हैं, ता‌कि किसी भी परिस्थिति से मुकाबला कर सकें।
कई अस्पताल नहीं घटाएंगे कोविड बेड
देखा जा रहा था कि पहले कोविड वेव में अस्पतालों ने कोविड बेड की संख्या कम करनी शुरू कर दी थी। इसके बाद सेकेंड वेव में अचानक फिर से कोविड के मामले बढ़ने पर दिक्कतें हुई थीं। ऐसे में फिलहाल एमआर बांगुर हॉस्पिटल में 30% कोविड बेड खाली है, हालांकि अस्पताल की ओर से किसी भी प्रकार से बेड की संख्या कम करने की योजना नहीं है।
एचडीयू व सीसीयू बेड जोड़ेगा एमआर बांगुर हॉस्पिटल
एमआर बांगुर हॉस्पिटल की ओर से 83 हाई डिपेंडेंसी यूनिटी (एचडीयू) व 16 ‌क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) बेड को जोड़ा जाएगा। अस्पताल में फिलहाल 199 एचडीयू व 78 सीसीयू बेड हैं।
कुछ तैयारियों पर नजर
एनआरएस- 25 पेडियाट्रिक बेड होंगे
एमआर बांगुर- 1100 कोविड बेड
-199-एचडीयू बेड- 83 जुडेंगे
-78 सीसीयू बेड-16 जुड़ेंगे
कोलकाता मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल
-433 कोविड बेड
-पेडियाट्रिक कोविड यूनिट तैयार होगा

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ी खबर : बंगाल में एक दिन में कोविड से 58 की मौत, 3 हजार से नीचे आए नए मामले

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस का ग्राफ और नीचे आया है। अब एक दिन में कोरोना वायरस के संक्रमण से 2788 नए मामले सामने आगे पढ़ें »

लोकप्रियता के टॉप पर मोदी : दुनिया के 13 देशों के नेताओं में टॉपर

वॉशिंगटन : कोरोना महामारी की दूसरी लहर और भारत में उसके बुरे प्रभाव के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता कायम है। अमेरिकी डेटा आगे पढ़ें »

ऊपर