ब्रेकिंग : ममता ने कहा बंगाल में बसे हिंदीभाषी हमारे सबसे अपने

हावड़ा : हावड़ा में प्रशासनिक बैठक करने पहुंची मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यूपी-बिहार के लोगों को लेकर बड़ी बात कह दी। ममता ने कहा कि बंगाल में रहने वाले यूपी और बिहार के लोगों की भूमिका यहां बंगाली से भी बड़ी है। यहां बसे सभी हिंदीभाषी हमारे अपने है क्योंकि ये सालों से बंगाल में ही​ रह रहे है। ये सभी बंगाल के नागरिक है। इसलिए इन्हें रोजगार देने से इनकार नहीं किया जा सकता। ममता ने उदाहरण दिया कि एक दिन पहले ही खुद उनके हाथों में उनके घर के करीब रहने वालों ने नौकरी की व्यवस्था करने के लिए कुछ लोगों के नामों की तालिका की पर्ची उन्हें दी। उस कागज में 30 लोगों के नाम थे ​जिनमें 26 लोग हिंदीभाषी थे। इन सभी को नौकरी की जरूरत है और हमारा फर्ज बनता है कि इन सभी के लिए नौकरी की व्यवस्था की जाएं। ममता ने साफ कहा कि नौकरी को लेकर तृणमूल सरकार जातिगत भेदभाव नहीं करेंगी। मालूम हो कि हावड़ा में प्रशासनिक बैठक के दौरान बागनान के विधायक गुलशन मल्लिक ने स्थानीय रोजगार को लेकर सीएम से शिकायत की कि चेंबर वाले बिहार के लोगों को काम देते है जिसके कारण स्थानीय लोगों को काम नहीं मिल पा रहा है। इसके जवाब में ही सीएम ने कहा कि बंगाल में रह रहे सभी हिन्दीभाषी हमारे अपने है इन्हें रोजगार मिलने में किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब यूपीए नहीं रहा: दीदी ने शरद पवार से मिलने के बाद की घोषणा

मुंबईः देश में कांग्रेस मुक्त विपक्ष देने की कोशिशों में जुटीं ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद एनसीपी के मुखिया शरद पवार के भी तेवर आगे पढ़ें »

ऊपर