भाटपाड़ा में हिन्दीभाषियों ने दिखाया दम, सैकड़ों शा​मिल हुए तृणमूल में

 

कोलकाता : पश्चिम बंग तृणमूल कांग्रेस हिन्दी प्रकोष्ठ का जिला सम्मेलन शनिवार को भाटपाड़ा में आयोजित किया गया। इस मौके पर प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विवेक गुप्त ने खासकर हिन्दीभा​षियों के लिए तृणमूल द्वारा अब तक किये गये विकासमूलक कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कैसे ममता सरकार हमेशा से ही हिन्दीभाषियों को बराबर सम्मान और महत्व देती आयी है। यही कारण है कि बिहार के बाद बंगाल में छठ पूजा के मौके पर दो दिनों की सरकारी छुट्टी दी जाती है। दोल के साथ ही होली के मौके पर भी सरकारी छुट्टी दी जाती है क्योंकि छठ पूजा और होली दोनों ही पर्व हिन्दी प्रदेशों में बड़े ही धूमधाम से मनाये जाते हैं। इसी तरह शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी सुधार किया गया है। स्कूलों में प्रश्नपत्र हिन्दी में आने लगे हैं, जिसमें सन्मार्ग का भी योगदान रहा है। हिन्दी विश्वविद्यालय की नींव रख दी गयी है, जल्द वह भी तैयार हो जाएगा।

पिछले 9 सालों में‌ जितना विकास हुआ उतना 34 सालों में नहीं हुआ: प्रकोष्ठ अध्यक्ष

विवेक गुप्त ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले 9 सालों में जो किया उतना विकास 34 सालों में भी नहीं किया गया है। जो कहते हैं कि तृणमूल की सरकार अच्छे काम नहीं कर रही है तो उन्हें समझना होगा कि 34 सालों से जो बिगड़ा है उसे सुधारने में वक्त लगता है। जिन लोगों ने कुछ किया नहीं वह भेदभाव की राजनीति कर बंगाल की जनता को लड़ाने की कोशिश करते हैं जबकि ममता बनर्जी ने जो जनता के लिए किया है वह बताकर तीसरी बार की सत्ता के लिए लोगों का वोट मांग रही हैं, इसलिए लोग अपना वोट जरूर दें।
कार्यक्रम में प्रकोष्ठ के प्रेसिडेंसी रेंज के कन्वेनर राजेश सिन्हा ने भी तृणमूल के विकासकार्यों का बखान कर बताया कि कैसे तृणमूल लोगों से जुड़कर अपना काम करती आयी है और आगे भी करेगी।

बड़ी संख्या में लोग रहें मौजूद

कार्यक्रम में जिला प्रकोष्ठ के कन्वेनर के रूप में अमित गुप्ता के नाम की घोषणा की गयी। कार्यक्रम में ही कांकीनाड़ा हाई स्कूल के हेडमास्टर राम बाबू राजभर अपने 50 शिक्षकों के साथ तृणमूल में शामिल हुए। गारुलिया के नवजीवन समाज के नेता प्रवीण यादव, सचिन यादव, जय हेला, सूरज चौधरी के साथ 100 युवक तृणमूल का झण्डा थामकर पार्टी में शामिल हुए। कार्यक्रम में धर्मपाल गुप्ता, संगीता मिश्रा, जीतू साव, ललन साव, मुबारक हुसैन, रमेश साव समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता का मास्टर स्ट्रोक है नंदीग्राम आंदोलन, शुभेन्दु के तेवर भी गरम

महज एक गांव नहीं, बंगाल की सत्ता में परिवर्तन का प्रतीक है नंदीग्राम दादा और दीदी की लड़ाई में किसके हाथ लगेगा विजय रथ, तय करेगी आगे पढ़ें »

सर्दियों में नाखूनों के आसपास की निकलती है खाल ? राहत देंगे ये घरेलू उपाय

कोलकाता : सर्दियों के मौसम में अक्सर कई लोग नाखूनों के आस-पास की खाल निकलने की शिकायत करते हैं। इसकी वजह से न सिर्फ व्यक्ति आगे पढ़ें »

ऊपर