आज टकरायेगा ‘गुलाब’, दक्षिण बंगाल में होगी भारी बारिश

राज्य सरकार की तैयारी पूरी, सरकारी कर्मचारियों की छुट्टी रद्द
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : यह सोचकर कि इस बार पश्चिम बंगाल में शायद चक्रवात ना आये, पश्चिम बंगाल ने अभी राहत की सांस ली ही थी कि शनिवार को बंगाल की खाड़ी पर बने निम्न दबाव के चक्रवात में बदलने की खबर आयी। मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि म्यांमार तट पर निम्न दबाव बना है जिस कारण पश्चिम बंगाल के दक्षिणी जिलों में भारी बारिश होगी। इस सप्ताह हुई भारी बारिश से कोलकाता के कई इलाके अभी उबरे भी नहीं थे और विभिन्न स्थानों पर अब तक जलजमाव है, इस बीच मौसम विभाग द्वारा बताया गया कि कल यानी सोमवार से बुधवार तक नये मौसमी प्रणाली के कारण दक्षिण बंगाल में भारी बारिश हो सकती है। एक चक्रवाती परिसंचरण उत्तर-पूर्व और संलग्न पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी पर म्यांमार तट के पास कल यानी 27 सितम्बर को टकरा सकता है और इसके प्रभाव के कारण अगले 24 घण्टों में निम्न दबाव बनेगा। मौसम विभाग द्वारा जारी बुलेटिन में कहा गया, ‘ये प्रणाली उत्तर – पश्चिम होते हुए 29 सितम्बर को पश्चिम बंगाल के तटों से टकरायेगी।’
आज टकरायेगा गुलाब, इस कारण भी होगी भारी बारिश
उक्त मौसमी प्रणाली के अलावा एक और चक्रवाती तूफान जिसे गुलाब नाम दिया गया है, वह आज यानी रविवार की शाम तक विशाखापतनम और गोपालपुर के बीच कलिंगपतनम में टकरा सकता है जो उत्तर आंध्र प्रदेश-दक्षिणी ओडिशा तटों को पार करेगा। उक्त मौसमी प्रणाली और गुलाब दोनों के असर से आज यानी रविवार से लेकर बुधवार तक द​क्षिण बंगाल के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है।
मिदनापुर और दक्षिण 24 परगना होंगे अधिक प्रभावित
गहरे निम्न दबाव के कारण आज यानी रविवार को पूर्व मिदनापुर के अलावा कल यानी सोमवार को पश्चिमी मिदनापुर और द​क्षिण 24 परगना जिलों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं दूसरी ओर, नये तौर पर विकसित निम्न दबाव के कारण मंगलवार को कोलकाता, पूर्व व पश्चिम मिदनापुर, उत्तर व दक्षिण 24 परगना, हावड़ा और हुगली जिलों में भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा बांकुड़ा, झाड़ग्राम, पूर्व व पश्चिम बर्दवान और पुरुलिया जिलों में भारी बारिश हो सकती है।
65 ​कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं
मौसम विभाग द्वारा बताया गया कि मौसमी प्रभाव के कारण उत्तर व दक्षिण 24 परगना और मिदनापुर जिलों में 45 से 55 कि.मी. प्रति घण्टे और अधिकतम 65 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। वहीं कोलकाता, पश्चिम मिदनापुर, झाड़ग्राम, हावड़ा और हुगली जिलों में 30 से 40 कि.मी. प्रति घण्टे और अधिकतम 50 कि.मी. प्रति घण्टे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। अगले कुछ दिनों में समुद्र के हालात काफी खराब रह सकते हैं जिस कारण मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गयी है।
5 अक्टूबर तक रद्द की गयी छुट्टियां
राज्य सरकार स्थितियों से निपटने के लिए तैयार है। ऐसे में आगामी 5 अक्टूबर तक राज्य सरकार के कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः 1 नवंबर से शुरू होगा विधानसभा का शीतकालीन सत्र

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंग विधानसभा का शीतकालीन अधिवेशन अगले महीने 1 नवंबर से शुरू होने जा रहा है जो 18 नवंबर तक चलेगा। विधानसभा आगे पढ़ें »

ऊपर