महानगरः भारी बारिश से एक बार फिर महंगी हुई हरी सब्जियां

सबिता राय
कोलकाता : हाल के दिनों में हुई लगातार भारी बारिश व बाढ़ की स्थिति से एक बार फिर से सब्जियों के दाम में वृद्धि हुई है। इससे लोगों के घर का बजट बिगड़ता जा रहा है। महानगर के विभिन्न बाजारों में हरी मिर्च की कीमत सेंचुरी पर है वहीं बैगन की कीमत आफ सेंचुरी पर है। जिस तेजी से दाम बढ़ रहे हैं उससे मध्यवर्गीय परिवारों के लिए घर चलाना मुश्किल हो रहा है। आम आदमी के लिए फल सब्जी खरीदना अब मुश्किल हो रहा है।
इन जिलों से महानगर में आती है सब्जियां
महानगर में हावड़ा, हुगली, दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, मिदनापुर से सब्जियां आती हैं। अभी ये सभी जिलों में ही भारी बारिश हुई और कई जगहों में तो अभी भी बाढ़ का पानी भरा हुआ है।
क्यों बढ़ रहे हैं दाम
हाल ही में हुई भारी बारिश ने फसलों को नुकसान पहुंचाया है। वहीं कई जिलों में आयी बाढ़ से सब्जियां पूरी तरह से नष्ट हो गयी। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में असामान्य वृद्धि हुई है। परिणामस्वरूप सब्जियों के दाम एक बार फिर से बढ़ रहे हें। टास्क फोर्स के सदस्य रवींद्रनाथ कोले ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में हरी सब्जियों के दाम में इजाफा हुआ है। इससे पहले दाम कम हो गये थे लेकिन एक बार फिर से बढ़ रहा है। इसका मूल कारण है कि जिस जिस जिलों से सब्जियां आती है वहां बाढ़ की स्थिति रही।
विक्रेताओं की बड़ी परेशानियां
* विक्रेताओं के अनुसार लोकल ट्रेन नहीं चलने से निजी वाहनवाले किराया दोगुने से भी ज्यादा वसूल रहे हैं।
* निजी वाहन दुगुना भाड़ा वसुल रहे हैं। दुकानदार मो. मुस्ताकिर ने कहा कि कोई भी सब्जी 50 -60 रु. से कम में नहीं बिक रही है। महंगी होने के कारण ग्राहक थोड़ा – थोड़ा ही खरीद रहे हैं।
एक नजर सब्जियों के दामों पर (दाम प्रति किलों में)
मिर्च – 100
बैंगन – 50
टमाटर – 50 रु.
भिंडी – 40 रु.
पपीता 50 रु.
कैप्सीकम – 60 – 70 रु.
पटल – 60 रु.
गाजर -60 रु.
कच्चा केला – 100 रु. दर्जन
नोट : अलग – अलग बाजारों में सब्जियों के दर में मामली अंतर हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पूजा के बाद कॉलेज – विश्वविद्यालयों खुल सकते है, छात्रों को जल्द लगेगी वैक्सीन

कोलकाता : पूजा के बाद कॉलेज - विश्वविद्यालय खुल सकते हैं। इसी क्रम में राज्य सरकार ने स्वास्थ विभाग से कहा है कि कॉलेज विश्वविद्यालयों आगे पढ़ें »

भाजपा की अपील : ‘बुर्का’ पहनकर आये मतदाताओं की हो पूरी जांच

भवानीपुर विधानसभा चुनाव : हाई कोर्ट में निर्णायक सुनवायी आज

पितृ पक्ष में इन संकेतों से जानें पूर्वज खुश हैं या नहीं

पैसों की तंगी से बचने के लिए करें आटे के ये उपाय, होगी मां लक्ष्मी की कृपा

मिनी भारत है भवानीपुर, यहीं से शुरू होगी दिल्ली की लड़ाई : ममता

इस उम्र की लडकियां चाहती है बिना कंडोम के सेक्स करना

चाहूं तो 3 महीने में बंगाल भाजपा को खत्म कर दूं लेकिन ऐसा नहीं करूंगा – अभिषेक

भाजपा सोच भी नहीं सकती कि ऐसे बड़े नेता आना चाहते हैं तृणमूल में – फिरहाद

भाजपा नेता के शव के साथ प्रदेश अध्यक्ष पहुंचे कालीघाट, पुलिस के साथ धक्का-मुक्की

ऊपर