आपातकालीन चिकित्सा सेवाओं के लिए कोलकाता में बनेगा हरित गलियारा और मोबाइल एप

green corridor

कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और कोलकाता पुलिस के सहयोग से शहर में पिछले 2 साल से अंग प्रतिरोपण के मामले बढ़ने के साथ आपातकालीन चिकित्सकीय सेवाओं के लिए समर्पित हरित गलियारा बनाने की योजना पर विचार कर रही है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि गलियारों का मार्ग निर्धारित करने की रूपरेखा बनाई जा रही है और इस कार्य के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की दूरदृष्टि से तालमेल बिठाते हुए जीपीएस आधारित एक मोबाइल एप का निर्माण भी शुरू कर दिया गया है।

मरीजों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाया जाएगा

अधिकारी ने बताया कि ‘हमने हाल के दिनों में अंग प्रतिरोपण के मामलों में वृद्धि देखी है। मरीजों और दान दिए गए अंगों को जल्दी अस्पताल पहुंचाने के लिए कोलकाता पुलिस हरित गलियारे का निर्माण करेगी। समर्पित गलियारा होने से यातायात को बाधित किए बिना मरीजों को कम से कम समय में अस्पताल पहुंचाया जा सकेगा।’ उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस को रास्ता साफ करने के लिए हूटर नहीं बजाना पड़ेगा क्योंकि उस मार्ग पर चल रहे अन्य वाहन नियंत्रित गति से चलेंगे। इससे मार्ग पर ध्वनि प्रदूषण में कमी आएगी।

जीपीएस द्वारा एम्बुलेंस की सुगमता सुनिश्चित होगी

कार्ययोजना को समझाते हुए अधिकारी ने कहा कि कोलकाता पुलिस जल्दी ही एक मोबाइल एप शुरू करेगी जिससे एम्बुलेंस चालक, मरीजों के परिजनों और डॉक्टरों को एम्बुलेंस बुलाने के स्थान और गंतव्य को चिहिंत करने में सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि जीपीएस के इस्तेमाल से पुलिस और यातायात विभाग एम्बुलेंस की सुगमता सुनिश्चित कर सकेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं देने से नाराज भाजपा सदस्यों का झारखंड सदन में हंगामा

रांची : झारखंड विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं दिए जाने से नाराज भाजपा आगे पढ़ें »

बेगूसराय सीएसपी लूटकांड मामले में चार अपराधी गिरफ्तार

बेगूसराय : बिहार के बेगूसराय जिले में कुछ दिनों पूर्व ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक से करीब पांच लाख रुपये की लूट के मामले में आगे पढ़ें »

ऊपर