बीमार दादी को समुद्र किनारे फेंक गया पोता, फिर….

सन्मार्ग संवाददाता
ताजपुर/कोलकाता : कोरोना की इस महामारी के बीच लोग अपने परिवारवालों और परिजनों को सही सलामत रखने के लिए दिन – रात एक कर रहे हैं। इस बीच, पश्चिम बंगाल से एक अमानवीय घटना सामने आयी है। बीमार दादी काे पोते ने ताजपुर के समुद्र के किनारे फेंक दिया। हाथों में स्लाइन का चैनल लगाये उस वृद्ध महिला का पोता उसे वहां फेंककर भाग निकला। शाम के समय समुद्र के किनारे उस महिला को कराहते देखा। हालांकि लम्बे समय से उसे इस तरह पड़ा देखकर लोग भी काफी सकते में थे, लेकिन वृद्धा महिला कोरोना संक्रमित हो सकती है, यह सोचकर कोई उनके पास जाने का साहस नहीं कर पा रहा था। आखिरकार पुलिस को इसकी खबर दी गयी और पुलिस ने आकर महिला को उद्धार किया। घटना के प्रत्यक्षदर्शी सुकुमार राय नाम के एक स्थानीय व्यवसायी ने कहा, ‘समुद्र के किनारे महिला को देखने के लिए काफी लोगाें ने भीड़ की थी, लेकिन कोरोना के भय के कारण कोई उनके पास नहीं जा पा रहा था। बाध्य होकर मैंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आकर पीपीई किट पहनकर उसे उद्धार किया, मैंने भी उसमें सहायता की। इसके बाद वृद्धा को दीघा स्टेट जनरल अस्पताल में भर्ती कराया गया।’ सुकुमार ने कहा कि वह वृद्धा कोरोना संक्रमित हैं या नहीं, इसका पता नहीं चल पाया है। हालांकि उनकी हालत गंभीर है। अस्पताल में इलाज शुरू होने के बाद उनका परिचय जानने की कोशिश मंदारमणि उपकूल थाने की पुलिस अस्पताल पहुंची। पता चला कि वह कोलकाता के श्यामबाजार की रहने वाली हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना आ रहे हैं सैकड़ों शव, चरमरा रही है श्मशान घाटों की व्यवस्था

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर का प्रकाेप कुछ इस कदर बढ़ा है कि श्मशान घाटों में रोंगटे खड़े करने वाली तस्वीरें देखने को आगे पढ़ें »

ट्रैफिक गार्ड के ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का मरम्मत कराएगी पुलिस

कोविड के खिलाफ जंग में लालबाजार ने कसी कमर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर के दौरान शहरवासियों की हालत खराब है। अस्पताल में बेड आगे पढ़ें »

ऊपर