सरकार ने लॉन्च किया ‘मेरा राशन ऐप’ जानिए इसके फायदे और रजिस्ट्रेशन का तरीका

नई दिल्ली : सरकार ने प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए राशन ऐप लॉन्च किया है। मेरा राशन ऐप भारत सरकार द्वारा शुरू की गई वन नेशन वन राशन कार्ड योजना का ही हिस्सा है। इसे उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया है। इस ऐप को आप अपने गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप के जरिए ऐसे मजदूरों को काफी मदद मिलेगी जो काम के सिलसिले में एक जगह से दूसरी जगह जाते रहते हैं। शुरुआत में इस ऐप का लाभ सिर्फ 32 रज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ही मिल पाएगा।
ओएनओआरसी से संबंधित सेवाओं को सुविधाजनक बनाना उद्देश्य
ऐप की लॉन्चिंग के बाद, खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने कहा कि नए मोबाइल ऐप का उद्देश्य एनएफएसए के लाभार्थियों, विशेष रूप से प्रवासी लाभार्थियों, उचित मूल्य की दुकान (एफपीएस) या राशन दुकान के डीलरों और अन्य हितधारकों के बीच ओएनओआरसी से संबंधित सेवाओं को सुविधाजनक बनाना है। उन्होंने आगे कहा कि हमारी योजना है कि इस ऐप को हम 14 भाषाओं में उपलब्ध कराएं। इसकी प्रमुख विशेषताएं बताते हुए, सचिव ने कहा कि प्रवासी लाभार्थी मोबाइल ऐप के माध्यम से अपने प्रवासन की जानकारी दर्ज कर सकते हैं। राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा विकसित एंड्रॉइड-आधारित ये मोबाइल एप्लिकेशन वर्तमान में हिंदी और अंग्रेजी में है। धीरे-धीरे, इसे 14 भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत, सरकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के माध्यम से 81 करोड़ से अधिक लोगों को 1-3 रुपये प्रति किलोग्राम पर अत्यधिक सब्सिडी वाले खाद्यान्न की आपूर्ति करती है।
* गूगल प्ले स्टोर पर जाएं और खोज बॉक्स का उपयोग करके ‘मेरा राशन ऐप’ खोजें।
* सेंट्रल ऐप्स टीम द्वारा अपलोड किए गए ऐप को डाउनलोड और इंस्टॉल करें।
* ऐप खोलें और अपने राशन कार्ड के विवरण का भरने के बाद रजिस्ट्रेशन करें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

90 ड्राइवरों व गार्ड के संक्रमित होने के बाद लोकल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

कोलकाता : पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः नरेंद्र मोदी के संबोधन से जुड़ी हर बात यहां

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री ने देश के नाम पर संबोधन शुरू कर दिया है। आइए जानते हैं संबोधन की मुख्य बातें। मोदी ने कहा, ‘साथियो! अपनी आगे पढ़ें »

ऊपर