Good News : महिला सुरक्षा पर ऑटो व कैब ड्राइवरों को प्रशिक्षण देगी कोलकाता ट्रैफिक पुलिस

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : इस कार में महिलाएं सुरक्ष‌ित हैं। चाहे रात हो या दिन अकेली महिला भी इस कार में निश्च‌िंत होकर सफर कर सकती है, क्योंकि इस कार के सामने की कांच पर स्ट‌िकर लगा रहेगा । स्ट‌िकर में लिखा रहेगा कि ‘इस कार में आप सुरक्षित हैं’। महानगर में कैब ड्राइवर, ऑटो ड्राइवर और बस कंडक्टर पर कई बार महिला यात्रियों से दुर्व्यवहार का आरोप लगा है। ऐसे में महिला यात्रियों को कैसे सम्मान दिया जाए इसे लेकर कोलकाता ट्रैफिक पुलिस की ओर से ड्राइवरों की क्लास ली जाएगी। कोलकाता पुलिस के सभी ट्रैफिक गार्ड की ओर से कैब व ऑटो ड्राइवरों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। मंगलवार से साउथ ईस्ट ट्रैफिक गार्ड की ओर से यह प्रशिक्षण शिविर चालू ‌किया जा रहा है। जल्द ही अन्य ट्रैफिक गार्ड भी ट्रेनिंग कैंप चालू करेंगे।
पुलिस के अनुसार महानगर में विभिन्न समय पर ड्राइवरों के खिलाफ महिला यात्रियों ने दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है। कई ड्राइवरों को छेड़छाड़ व मारपीट के आरोप में पुल‌िस ने गिरफ्तार भी किया है। लालबाजार के अधिकारी ने बताया कि शुरुआत में ऐप कैब, टैक्सी और ऑटो ड्राइवरों को प्रश‌िक्षण देने का फैसला लिया गया है। कोलकाता पुलिस ट्रेनिंग अकादमी व ट्रैफिक पुलिस संयुक्त रूप से यह प्रशिक्षण देगी। ट्रैफिक गार्ड के अधिकारियों के अलावा बाहरी इंस्ट्रक्टर भी कैंप में रहेंगे। चलती कार में महिला यात्रियों से छेड़छाड़ व गलत व्यवहार को लेकर उन्हें पाठ पढ़ाया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी ने बताया कि कोरोना काल के बाद गाइडलाइन को मानते हुए कई कैब ड्राइवर यात्रा के दौरान एसी चलाना नहीं चाहते हैं। एसी को लेकर कई बार महिला यात्र‌ियों और ड्राइवरों के बीच विवाद हुआ है। पुलिस इस विषय पर ज्यादा महत्व देगी। प्रशिक्षण के बाद ड्राइवरों को शपथ पाठ कराया जाएगा कि वे लोग महिला यात्री से दुर्व्यवहार नहीं करेंगे। इसके बाद ही उन्हें सर्टिफिकेट देने के साथ ही उनकी कार को महिलाओं के लिए सुरक्ष‌ित करार दिया जाएगा। अगले साल मार्च महीने तक यह ट्रेनिंग कैंप चलेगा। प्रत्येक ट्रैफिक गार्ड 10 क्लास ले सकेंगे। सुबह से लेकर शाम तक क्लास चलेगी। वहीं प्रत्येक क्लास में ड्राइवरों की संख्या 50 के करीब रहेगी। इस प्रशिक्षण शिविर के लिए राज्य सरकार ने कोलकाता पुलिस के लिए 1.70 करोड़ रुपये का अनुमोदन दिया है। प्रत्येक क्लास के पीछे हर ट्रैफिक गार्ड 68 हजार रुपये खर्च कर सकेंगे। ट्रनिंग कैंप में शामिल होने वाले ड्राइवरों को बैग, कॉपी, पेन, टी शर्ट व कैप दिए जाएंगे। पुलिस ने 12 हजार ड्राइवरों को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बॉलीवुड की इस एक्ट्रेस पर भड़के ऋषभ पंत, कहा- ‘मेरा पीछा छोड़ो बहन’

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के विकेट कीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की पर्सनल लाइफ की बात करें तो बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्वशी रौतेला के साथ आगे पढ़ें »

ऊपर