गैंग रेप : एक दर्जन मामलों में अंतरिम राहत की पहल करें

हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के डिविजन बेंच का आदेश
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस राजर्षि भारद्वाज के डिविजन बेंच ने सोमवार को गैंग रेप के एक दर्जन मामलों की सुनवायी की। डिविजन बेंच ने आदेश दिया है कि इन मामलों में पीड़िताओं को अंतरिम राहत देने की दिशा में पहल की जाए। इसके साथ ही कहा है कि यह प्रक्रिया पंद्रह दिनों के अंदर पूरी कर ली जाए।
एडवोकेट पल्लवी चटर्जी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि नामखाना, मंत्रा, देगंगा और बांसद्रोणी सहित पांच मामलों की जांच स्पेशल पुलिस कमिश्नर दमयंती सेन को सौंपी गई है। पिंगला रेप कांड की जांच आईपीएस पारुल पुष्प जैन को सौंपी गई है। हांसखाली बलात्कार कांड की जांच सीबीआई कर रही है। इन मामलों में पिटिशनरों की तरफ से बहस करते हुए एडवोकेट सुष्मिता साहा दत्त ने चीफ जस्टिस से अपील की इन मामलों की सारी पीड़िताएं गरीब तबके की हैं इसलिए उन्हें विक्टिम कंपेशेसन स्कीम के तहत फिलहाल अंतरिम राहत दी जाए। इन सभी मामलों में जांच में हुई अग्रगति के बाबत सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट पेश की गई। मुआवजे के बाबत एडवोकेट साहादत्त ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट और स्टेट लीगल सर्विसेस ऑथरिटी को इस बाबत पत्र भेजा गया है। इसके बाद डिविजन बेंच ने संबंधित महकमे को आदेश दिया कि इस मामले में यथाशीघ्र कार्रवाई की जाए और इसके लिए दो सप्ताह का समय भी तय कर दिया। इसके साथ ही बेंच को जानकारी दी गई कि राज्य महिला आयोग और शिशु अधिकार सुरक्षा आयोग को भी इस मामले में पार्टी बनाया गया है। एडवोकेट जनरल एस एन मुखर्जी ने कहा कि मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू की गई है। डिविजन बेंच ने पिटिशनर को आदेश दिया कि महिला आयोग के चेयर पर्सन को इसकी जानकारी दें ताकि उनकी तरफ से इस मामले में पैरवी की जाए। डिविजन बेंच ने उत्तरपाड़ा और बादुरिया रेप कांड के मामले में राज्य सरकार को केस डायरी और जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है। इसकी अगली सुनवायी 20 मई को होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग : एनएसई को-लोकेशन मामला : सीबीआई ने कोलकाता सहित कई शहरों में तलाशी शुरू की

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि एनएसई को-लोकेशन मामला  में सीबीआई ने कोलकाता सहित कई शहरों में तलाशी शुरू की। आगे पढ़ें »

ऊपर