शिल्पांचल से लेकर उत्तर बंगाल तक सीबीआई ने अब तक दर्ज किये हत्या व रेप के 11 मामले

110 से अधिक लोगों को बनाया गया अभियुक्त
सभी मामलों में देखा गया कि आरोपियों ने झुंड में हमले किये
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शिल्पांचल से लेकर उत्तर बंगाल तक सीबीआई की टीम ने हर इलाके में जाकर छानबीन शुरू कर दी है। अब तक 11 मामले दर्ज कर लिये गये हैं तथा अभी और कई पाइपलाइन में हैं। सीबीआई की एफआईआर में देखा गया है कि मृतकों पर एक साथ 10 से 11 लोगों ने मिलकर हमले किये हैं। आरोपियों ने झुंड में पीड़ितों को इतना पीटा है, या फिर सिर पर गोली मारी है जिससे कि पीड़ित बच ही न पाए। यही नहीं उनके घरवालों तक को भी नहीं बख्शा गया।
ये हैं सभी मामलें
1. सीबीआई की टीम ने पहले मामले में नदिया जिला स्थित गंगनापुर पुलिस स्टेशन में दायर एफआईआर के आधार पर 12 आरोपियों और अज्ञात अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। उल्लेखनीय है कि यह मामला 3 मई को हुआ था। प्राथमिकी संख्या 65/2021 के मुताबिक आरोपी ने अन्य अज्ञात व्यक्तियों के साथ पीड़ित पर बांस और कटारी से हमला किया था।
2. दूसरा मामला बांकुड़ा जिले का है जहां पुलिस स्टेशन कोतुलपुर में 3 आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी संख्या 180/2021 के आधार पर एफआईआर की गयी है। आरोप है कि अन्य अज्ञात व्यक्तियों के साथ अभियुक्तों ने 6 मई को एक पीड़ित का अपहरण किया और फिर 8 मई को उसे मार डाला और उसके शरीर को एक तालाब के पास छोड़ दिया।
3. तीसरा मामला नदिया ​जिले के चापड़ा का है जहां एफआईआर संख्या 206/2021 में 8 आरोपियों के खिलाफ 14 मई को मामला दायर किया गया था। अभियुक्त ने तीन लोगों को लोहे की कटारी से मारा।
4. यह मामला बांकुड़ा के पुलिस स्टेशन सिंधु का है जहां पर 30 आरोपियों और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर संख्या 68/2021 के आधार पर 10 जून को दर्ज किया गया था, आरोप है कि आरोपी अज्ञात अन्य लोगों के साथ नात्रा गांव में पीड़ितों के घर पर लाठी, लोहे की रॉड, चाकू, कटारी, भुजाली, पिस्टल, बम आदि से हमला किया और महिला सदस्यों का यौन उत्पीड़न किया। उन्होंने एक व्यक्ति को अपनी पिकअप वैन में जबरदस्ती अपहरण कर लिया जहां उन्होंने उसे मार डाला और बाद में उसे एक पेड़ पर लटका दिया।
5. पांचवां मामला मुर्शिदाबाद स्थित नबाग्राम थाने का है। यहां प्राथमिकी संख्या 114/2021 के आधार पर 10 मई को 3 आरोपियों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज किया गया था।
6. यह मामला पुलिस स्टेशन नारकेलडांगा, कोलकाता में एफआईआर संख्या 124/2021 के आधार पर 2 मई को हुआ। यहां अज्ञात 7 से 8 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। आरोपियों ने पीड़ित पर लाठियों से हमला किया और उसके घर का घरेलू सामान भी तोड़ दिया।
7. यह मामला उत्तर 24 परगना में प्राथमिकी संख्या 282/2021 का है। गत 6 जून को भाटपाड़ा में 3 आरोपियों और अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ इस आरोप में दर्ज किया गया था कि आरोपी पीड़ित के घर गया और उसे और अन्य सदस्यों को गाली दी। एक आरोपी ने कथित रूप से उक्त पीड़ित के माथे पर बम फेंका और बम के विस्फोट से उसकी मृत्यु हो गई।
8. आठवां मामला कूचबिहार में प्राथमिकी संख्या 237/2021 के आधार पर दर्ज किया गया है जहां 5 मई को 16 आरोपियों के खिलाफ इस आरोप में दर्ज किया गया था कि आरोपी ने दो व्यक्तियों पर हमला किया और दोनों को गंभीर चोटें आईं। एक व्यक्ति का शव बरामद किया गया।
9. नौवां मामला नदिया के कोतवाली थाने का है। प्राथमिकी संख्या 562/2021 के तहत 14 जून को 10 आरोपियों और अज्ञात अन्य लोगों के खिलाफ आरोप है कि आरोपी अज्ञात अन्य लोगों के साथ इकट्ठे हुए और हथियारों के साथ शिकायतकर्ता के घर में घुस गए। यहां पर उन्होंने नुकीला खंजर, पाइप, लोहे की छड़ और आग्नेयास्त्र से हमला किया। उन्होंने कथित तौर पर शिकायतकर्ता के घर में तोड़फोड़ की और शिकायतकर्ता के पति को घसीटा। एक आरोपी ने कथित तौर पर शिकायतकर्ता के पति के सिर पर गोली मार दी, जिससे वह खून से लथपथ होकर गिर पड़ा।
10. दसवां मामला पूर्व बर्दवान के थाना केतुग्राम की है जहां प्राथमिकी संख्या 194/2021 के तहत दर्ज मामले में आरोपियों ने शिकायतकर्ता के घर में जबरदस्ती प्रवेश किया और तोड़फोड़ की। उन्होंने शिकायतकर्ता के 22 वर्षीय बेटे का कथित रूप से अपहरण कर लिया और उसे लोहे की रॉड, चॉपर आदि से बुरी तरह पीटा। पीड़ित को भारी चोटें आईं। चोट के कारण अगले दिन पीड़ित की मृत्यु हो गई।
11. यह मामला दक्षिण 24 परगना के उस्ती थाने की है जहां 6 आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी संख्या 146/2021 के तहत दर्ज किया गया था। आरोप है कि अज्ञात लोगों के साथ अभियुक्त ने शिकायतकर्ता के घर पर हमला किया और उसे, उसके बड़े बेटे और उसके भाई को बुरी तरह पीटा। इसके बाद बदमाशों ने शिकायतकर्ता के छोटे बेटे को निशाना बनाते हुए कथित तौर पर अपनी बंदूक से गोली चला दी, जिससे वह खून से लथपथ जमीन पर गिर पड़ा। बनेश्वरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाए जाने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मिनी भारत है भवानीपुर, यहीं से शुरू होगी दिल्ली की लड़ाई : ममता

कहा : निष्पक्ष चुनाव हुआ होता तो 30 सीट भी न जीत पाती भाजपा 6 महीने में विधायक बनना जरूरी, इसके बिना सीएम पद उचित नहीं लोगों आगे पढ़ें »

ऊपर