कितनी दूरी से मारी गयी थी गोली, सीबीआई ने झालदा मर्डर मामले को फिर से रिक्रियेट किया

पहली बार पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों को बुलाया गया घटनास्थल पर
साइंटिफिक तरीके से हो रही है छानबीन
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : झालदा मामले में कांग्रेस नेता तपन कांदू को कितनी दूरी से गोली मारी गयी थी, इस मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने के लिए सीबीआई की टीम ने इस घटना को फिर से रिक्रियेट किया। इस दौरान दिल्ली से फिर से फॉरेंसिक टीम व पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों को भी रांची से बुलाया गया था। सीबीआई की टीम इन्हें अपने साथ लेकर घटनास्थल पर गयी और छानबीन की। भरी दुपहरी में बुधवार को लगभग 2 घंटे तक सीबीआई अधिकारी वहां रुके और घटना वाले दिन क्या हुआ था, इसे रिक्रियेट किया। सूत्र बताते हैं कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में और सीआईएफएल की टीम की छानबीन के बीच कुछ संशय था। इसे दूर करना बेहद जरूरी था, इसीलिए फिर से मर्डर के सीन को रिक्रियेट किया गया।
प्रत्यक्षदर्शियों के गले में बोर्ड दिखा
सभी प्रत्यक्षदर्शियों को उस दिन के मुताबिक ही उतनी ही दूरी पर खड़ा किया गया तथा सीन को दुहराया गया। इसमें कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्होंने उस दिन क्या देखा था, इसके बाद डॉक्टर जिसने शव से गोली निकाली थी, उसने बताया कि अगर इतनी दूरी से गोली चली होगी तभी यह मृतक के शरीर के इस हिस्से में जाकर फंसी होगी। वहीं फॉरेंसिक टीम के सदस्यों ने भी कुछ सवाल किये। सीबीआई ने झालदा के कांग्रेस पार्षद तपन कांदू की हत्या के मामले की दोबारा जांच शुरू की है। इस बार बेदह साइंटिफिक तरीके से छानबीन शुरू की गयी है। उस दिन के जो चश्मदीद गवाह थे, उन्हें मौके पर लाया गया और उस दिन उन्होंने क्या देखा, इस बारे में पूछताछ की गयी। सीबीआई जांचकर्ताओं ने सभी के गले में तख्तियां टांगकर रखी थीं, साथ ही इनका ग्राफिक भी बनाया गया, ताकि कोर्ट में इसे पेश किया जा सके। हाई कोर्ट के आदेश पर सीबीआई की टीम इसकी छानबीन कर रही है।
2 गोली लगी थी मृत पार्षद को तो एक अन्य गोली कहां गयी, मेटल डिटेक्टर से ढूंढा गया
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उस दिन पार्षद के ऊपर तीन गोली दागी गयी थी ​जिनमें से 2 गोली उन्हें लगी थी और एक गोली वहीं पास में गिर गयी थी। इसे तलाशने के लिए सीबीआई की टीम मेटल डिटेक्टर के साथ वहां पहुंची थी और पता लगाने के लिए जमीन पर तथा आस पास के पौधों के पास उस गोली को ढूंढने का प्रयास किया। फॉरेंसिक टीम सीबीआई के अधिकारियों को बता रही थी, अगर इतनी दूरी से गोली चली है तो पास में ही यह गिरी होगी। सीबीआई की टीम उसे ढूंढती दिखी, लेकिन यह इन्हें नहीं मिली।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज के दिन महिलाओं को अपशब्द ना बोले वरना हो सकता है…

कोलकाता : शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है। माता लक्ष्मी को धन, सुख और समृद्धि की देवी माना जाता है। शुक्रवार आगे पढ़ें »

ऊपर