वैक्सीन लेने के बाद ही चार लोग बन गेए मैग्नेट मैन

सिलीगुड़ी, आसनसोल व नदिया में मिला मामला
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद नासिक के एक व्यक्ति में मैग्नेटिक प्रभाव दिखा था। इस खबर ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। यह मामला अब तक नहीं सुलझा था कि इस बार राज्य में भी चार लोगों में मैग्नेटिक प्रभाव नजर आया। इसमें पहला मामला सिलीगुड़ी के नेपाल चक्रवर्ती नामक व्यक्ति में आया है। उन्होंने दावा किया है कि कोविड की वैक्सीन लेने के बाद उनका शरीर चुंबक की तरह बन गया है।
सिलीगुड़ी के भारत नगर के रहने वाले नेपाल चक्रवर्ती कहना है कि कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद उनका शरीर चुंबक हो गया है। उन्होंने सात मई को कोविशिल्ड की पहली डोज ली थी। इसके बाद शरीर में चम्मच, सिक्के, मोबाइल जैसे सामान भी चिपक जा रहे हैं। ऐसा पहले नहीं होता था। इधर सिलीगुड़ी के बाद आसनसोल, नदिया के पलाशीपाड़ा और बशीरहाट में मैग्नेट मैन मिले। उनमें से दो ने कोविशील्ड की दूसरी डोज ली थी। वहीं एक ने कोवैक्सीन की एक खुराक ली थी।
शरीर से चिपक जा रहा लोहा, चम्मच, कार की चाबी
पता चला है कि आसनसोल के मैग्नेट मैन का नाम अंकुश साव है। उत्तर आसनसोल के सुकांतपल्ली के रहने वाले 27 वर्षीय अंकुश साव के शरीर में लोहे की चम्मच, कार की चाबी या कार की रेंज चुंबक की तरह चिपक जा रही है। आसनसोल नगर निगम के एक अस्थायी कर्मी अंकुश ने दावा किया कि टीकाकरण के बाद उनके शरीर में यह अजीब घटना हो रही थी। 6 जून को उन्होंने स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में कोवैक्सीन ली थी।
आसनसोल ही नहीं बशीरहाट और नदिया में भी ऐसा मामला मिला है। बशीरहाट के मैग्नेट मैन का नाम शंकर प्रमाणिक है। वह बशीरहाट के हिंगलगंज प्रखंड के ममुदपुर क्षेत्र का रहने वाला है। दुर्गापुर स्टील प्लांट के 64 वर्षीय सेवानिवृत्त कर्मचारी शंकर प्रमाणिक के शरीर में भी लोहे के चम्मच, कार की चाबी या किसी धातु की वस्तु चिपक जा रही है। यही तस्वीर नदिया के पलाशीपाड़ा थाने के साहेब नगर अभय नगर गांव की भी है। वहां भी, कोविशिल्ड लेने के बाद, एक व्यक्ति के शरीर ने चमत्कारिक रूप से चुंबकीय ऊर्जा का निर्माण किया है। इसमें एक के बाद एक सिक्के, चम्मच, चाबियां और अन्य लोहे की चीजें फंस जा रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब कोलकाता पुलिस के कर्मी कर सकेंगे स्वेच्छा से अंगदान

ऑर्गन डोनेशन के लिए भी भर सकते हैं फॉर्म सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर कोई अंगदान करना चाहता है और उसे नियम नहीं पता तो उसकी मुश्क‌िल आगे पढ़ें »

ऊपर