फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट तैयार करने के आरोप में नार्सिंग होम का पूर्व कर्मी गिरफ्तार

सिलीगुड़ी: लोगों को कोरोना का फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट देने के आरोप में माटीगाड़ा थाना कि पुलिस ने नर्सिंग होम के पूर्व कर्मी को गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान सईकत दे के रूप में की गई है। आरोपी सिलीगुड़ी के मिलनपल्ली इलाके का निवासी बताया जा रहा है। जानकारी मिली है कि अब तक वह 100 से भी ज्यादा लोगों को फर्जी कोरोना का रिपोर्ट देकर चुना लगा चुका है। शनिवार आरोपी को सिलीगुड़ी कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट से आरोपी को 7 दिनों के रिमांड पर लेकर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।
पुलिस सूत्रों की माने तो आरोपी मेडिकल संलग्न कावाखाली इलाके में एक नार्सिंग होम में कार्यरत था। इसका फायदा उठाकर वह लोगों के पास आसानी से पहुंचता था। पुलिस के प्राथमिक जांच में पाया गया है कि लोगों के घरों में जाकर वह जांच के लिए नमूना संग्रह करता था। बिना जांच के फर्जी रिपोर्ट तैयार कर कोरोना का नेगेटिव रिपोर्ट बनाकर लोगों को देता था। लंबे समय से आरोपी इस काम को कर रहा था। जानकारी मिली है कि रिपोर्ट की सत्यता को लेकर शक होने पर लोगों ने नार्सिंग होम के साथ संपर्क किया। जिसके बाद ही पुरे फर्जीवाड़ा का खुलासा हो गया। इस घटना के बाद गुरुवार शाम को माटीगाड़ा थाना के मेडिकल आउट पोस्ट में आरोपी के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई गई थी। शुक्रवार शाम को माटीगाड़ा थाना कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना में कितने लोग जुड़े है आरोपी को रिमांड पर लेकर माटीगाड़ा थाना कि पुलिस पूछताछ कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोलकाता स्टेशन पर बंद है टैक्सी बूथ

“लूटे” जा रहे हैं यात्री सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः जैसे ही एक यात्री लंबी दूरी तय करके स्टेशन के बाहर पहुंचता है, वह प्रीपेड टैक्सी बूथ की खोज आगे पढ़ें »

ऊपर