पूर्व सांसद चंदन मित्रा का निधन

भाजपा से दो बार सांसद होने के बाद शामिल हुए थे तृणमूल में
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता/नई दिल्ली : राज्यसभा के पूर्व सांसद व वरिष्ठ सांसद चंदन मित्रा का बुधवार की देर रात दिल्ली स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। वह 65 साल के थे। पत्रकारिता के क्षेत्र में उनका अवदान अविस्मरणीय रहा है। वह ‘पायनियर’ समाचार-पत्र के संपादक पद की जिम्मेदारी भी संभाल चुके है। पिछले कुछ समय से वह बीमार थे और सार्वजनिक कार्यक्रमों से दूर रहते थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी शबरी गांगुली और दो बेटे कुशान और शाक्य हैं। कुशन मित्रा ने बताया कि उनके पिता पिछले कुछ वक्त से बीमार थे। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मेरे पिता जी का कल देर रात निधन हो गया। वह पिछले कुछ समय से कष्ट में थे।’ अस्वस्थता के चलते वह सक्रिय राजनीति से दूर थे।
चंदन मित्रा के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित कई नेताओं ने शोक जताया और राजनीति एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में उनके योगदान की सराहना की। राष्ट्रपति कोविंद ने मित्रा के निधन को पत्रकारिता जगत के लिए बड़ा नुकसान बताया। भाजपा से वह दो बार राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए। वर्ष 2018 में उन्होंने भाजपा से इस्तीफा देकर तृणमूल में शामिल हुए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

गुजरात में भाजपा का पटेल और ओबीसी कार्ड, 24 में से आधे…

गांधीनगर : गुजरात में भाजपा ने सीएम के साथ ही पूरे मंत्रिपरिषद को भी बदल दिया है। इसमें पार्टी ने सत्ता विरोधी लहर से बचने आगे पढ़ें »

ऊपर