पहली बार भवानीपुर ने ही ममता बनर्जी को बनाया था सीएम

सीएम बनने के लिए भवानीपुर से पहले भी उपचुनाव लड़ चुकी हैं ममता
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : गुरुवार को भवानीपुर की हाई प्रोफाइल सीट पर शांतिपूर्ण उपचुनाव हुआ। एक तरफ सीएम पद के लिए ममता बनर्जी तो दूसरी ओर भाजपा की प्रियंका टिबरेवाल यहां से अपनी किस्मत आजमा रही हैं। वहीं माकपा से श्रीजीव ​विश्वास चुनावी मैदान में हैं। भवानीपुर और ममता बनर्जी का रिश्ता अभी – अभी का नहीं है। पहली बार भवानीपुर ने ही ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री बनाया था। उस समय भी ममता बन​र्जी ने भवानीपुर से उपचुनाव लड़ा था और इस बार भी उन्होंने सीएम बनने के लिए भवानीपुर को ही चुना।
2011 में भवानीपुर से उपचुनाव लड़ा था ममता ने
वर्ष 2011 में भी ममता बनर्जी ने भवानीपुर से उपचुनाव लड़ा था। उस समय ममता बनर्जी सांसद थीं और तृणमूल के जीतने के बाद 6 महीने के अंदर ममता बनर्जी को सीएम के तौर पर चुनकर आना था। ऐसे में भवानीपुर से 2011 का चुनाव जीतने वाले तृणमूल के सुब्रत बख्शी ने ममता बन​र्जी को सीएम बनाने के लिए इस्तीफा दे दिया था। इस कारण यहां 2011 में भी उपचुनाव हुआ था जिसमें ममता बनर्जी जीत हासिल करते हुए सीएम बनी थीं।
भाजपा ने नहीं उतारा था कोई उम्मीदवार
जो भाजपा आज भवानीपुर में तृणमूल को टक्कर दे रही है, वर्ष 2011 में हुए उपचुनाव में भाजपा ने भवानीपुर से कोई उम्मीदवार नहीं उतारा था। तृणमूल से ममता बनर्जी को 73,635 वोट जबकि माकपा की नंदिनी मुखर्जी को 19,422 वोट मिले थे। मुख्य तौर पर केवल यही दो पार्टियां चुनावी मैदान में थीं।
2021 में चुना नंदीग्राम को
2011 के बाद 2016 में भी ममता बनर्जी ने भवानीपुर को ही चुना और यहां से कुल 65,520 वोट पाकर उन्होंने चुनाव जीता था। हालांकि 2021 विधानसभा चुनाव की बात करें तो इस बार ममता बन​र्जी ने भवानीपुर के बजाय नंदीग्राम को चुना जहां से उन्हें भाजपा के टिकट से लड़ रहे शुभेंदु अधिकारी के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस कारण अब सीएम बनने के लिए ममता बन​र्जी को अगले 6 महीने के अंदर कहीं से चुनाव जीतना होगा और इस बार उन्होंने एक बार फिर भवानीपुर को चुना है। यहां से 2021 के विधानसभा चुनाव में शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने जीत हासिल की, लेकिन ममता बनर्जी को सीएम बनाने के लिए उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया।
सीएम ने ये कहा था भवानीपुर के लिए
उपचुनाव के लिए भवानीपुर को चुनने के बाद ममता बनर्जी ने कहा था कि भवानीपुर ही मेरी किस्मत का फैसला करेगा। भवानीपुर चाहता है कि मैं यहीं से सीएम बनूं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मांग पर अड़े मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के छात्र

कोलकाता : आरजी कर मेडिकल के प्रिंसिपल के इस्तीफे की मांग पर अड़े मेडिकल स्टूडेंट्स ने निकाली रैली। इस मामले पर स्वास्थ्य भवन के अधिकारियों आगे पढ़ें »

ऊपर