हावड़ा श्यामपुर में तैयार हो रहा है पहला होम स्टे, जल्द ही लॉन्च

हावड़ा : यहां आप गंगा के किनारे बैठकर सूर्यास्त का नजारा देख सकते हैं। वीकेंड पर आप अपने दोस्तों के साथ शहर के कंक्रीट के जंगल में घूम सकते हैं। आप इस तरफ भी जा सकते हैं, उस तरफ भी। हावड़ा के शामपुर के बेलारी में गंगा तट पर होम स्टे सैलानियों के लिए नया डेस्टिनेशन हो सकता है। कुछ ही दिनों में यह लॉन्च हो जायेगा। राज्य के पर्यटन उद्योग में होम स्टे का विचार नया नहीं है। हालांकि, यह हावड़ा जिले की पर्यटन तस्वीर का नवीनतम जोड़ है। गडियारा में पर्यटन विभाग का अपना होटल है। गड़चोमुक में जिला परिषद का बंगला है। कई निजी होटल भी हैं। जिला परिषद ने कहा है कि इस बार होम स्टे का विचार घर के माहौल को आराम देना है। जिला परिषद के वन, भूमि एवं पर्यटन विभाग की प्रमुख अंतरा साहा ने दावा किया, ”हावड़ा के ग्रामीण इलाकों में कई पर्यटन केंद्र हैं। एक अध्ययन में पाया गया है कि कई पर्यटक भीड़-भाड़ वाले वातावरण से दूर एकांत घर के वातावरण में रहना पसंद करते हैं। ऐसा करना एक अच्छी बात है, और इसे वहीं खत्म होना चाहिए। इसे जल्द ही पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा।”स्थानीय सूत्रों के अनुसार बेलारी में गंगा के किनारे एकांत वातावरण में नया आवास प्रोजेक्ट स्थापित किया गया है। कई बंगले भी बन चुके हैं। एक बंगले के मालिक ने राज्य पर्यटन विभाग और जिला परिषद को पर्यटकों के ठहरने की व्यवस्था करने का प्रस्ताव दिया। पर्यटन विभाग ने बंगले के मालिक से सहमति जताई है। पर्यटन विभाग ने बंगले के बुनियादी ढांचे के नवीनीकरण के लिए भी धन मुहैया कराया है। जिला पर्यटन अधिकारी दुर्गा दास ने कहा, ”उस घर में रसोई बनाई गई है. पर्यटक चाहें तो अपने लिए खाना बना सकते हैं। आप बंगले के मालिक से भी खाना मंगवा सकते हैं। मकान मालिक खुद किराया तय करेगा। वह किराए का पैसा लेगा। पर्यटक आराम से रहें या नहीं, इसका ख्याल पर्यटन विभाग करेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रात में कई घंटों तक नहीं मिला कोई साधन…तो घर जाने के लिए चुरा ली सरकारी बस

अमरावती: आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां पर एक शख्स को देर रात घर जाने के लिए कोई साधन आगे पढ़ें »

ऊपर