मृत व घायल मजदूरों के परिवार को फिरहाद ने दिया ढाई लाख का चेक

वाराणसी में मकान का छत गिरने का कारण हुई थी यह दुर्घटना
मालदह : वाराणसी में हुई एक दुर्घटना में मारे गए दो मजदूरों और छह घायलों के परिवार को पालिका एव नगर विकास मंत्री फिरहाद हकीम ने मालदह पहुंच कर उनके परिवार वालों को ढाई लाख रुपए का चेक दिया। ये वाराणसी में एक निर्माण कार्य में मजदूरी कर रहे थे। फिरहाद हकीम ने कहा कि जिस राज्य में कोरोना से मरे लोगों को गंगा में बहा दिया जाता है उस राज्य ने दो मजदूरों को शवों को कॉफिन में रख कर भेजा है इसलिए हम उनके आभारी है। एक मृतक की पत्नी को आशा कार्यकर्ता की नौकरी भी दी गई है। ये प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में काम कर रहे थे और दोनों की ताबूत में बंद लाश कलियाचक पहुंच गई। फिरहाद हकीम हेलिकाप्टर से फरक्का फुटबाल स्टेडियम के मैदान में पहुंचे और वहां से अपने कॉनवाय के साथ सीधे कलियाचक के लिए रवाना हो गए। दोनों मृतक मजदूरों का मकान कलियाचक थाने के अंतर्गत शेरशाही और रानीचक में रहते है। फिरहाद उनके घर गए और उनके साथ तृणमूल की जिला अध्यक्ष मौसम नूर, विधायक निहार घोष और अन्य थे। उन्होंने मृतकों के परिवार के साथ मुलाकात की और इसके बाद नरेंद्रपुर में जा कर इस दुर्घटना में घायल हुए मजदूरों के परिवार से मुलाकात की। मृतकों के परिवार के हाथों फिरहाद ने दो लाख रुपए का चेक सौंप दिया। घायलों के परिवार को पचास हजार रुपए का चेक दिया गया। ‌फिरहाद हकीम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में घटी इस दुर्घटना में मालदह के दो मजदूरों की मौत और छह के घायल होने की खबर सुनने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दुखी परिवार के पास खड़ा होने और उनकी मदद करने का आदेश दिया था। राज्य सरकार की तरफ से उनकी मदद की गई है। फिरहाद हकीम ने इस बात पर आभार जताया कि मालदह के इन दोनों मजदूरों की लाश गंगा में नहीं बहा दी गई। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में यह दुर्घटना घटी है और इस बाबत कुछ नहीं कहना है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पहल पर जो किया जाना चाहिए था उसे जिला प्रशासन ने किया है। जिला प्रशासन को भी उन्हें हर तरह की मदद देने का आदेश दिया गया है। एक मृतक की पत्नी को आशा कार्यकर्ता की नौकरी दी गई है। उसने इसके लिए पहले से ही आवेदन भी किया था। यहां गौरतलब है कि मंगलवार की रात को यह दुर्घटना घटी थी। मृतक मजदूरों के नाम अमिनुल मोमिन और एबादुल मोमिन हैं। घायलों के नाम आरिफ मोमिन, शहीद अख्तर, इमरान मोमिन, आरिफ मोमिन शेख, शाकीर खान और अब्दुल जब्बार हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में कोरोना की त्रासदी के बीच महंगाई में रिकार्ड वृद्धि

पिछले तीन माह से थोक और खुदरा महंगाई बढ़ने से जनजीवन त्रस्त घर की रसोई अब जरूरत से अधिक नियंत्रित हुयी दालें, प्याज, आलू, आगे पढ़ें »

रोजाना केला खाने से मिलेंगे इतने फायदे, पूरी दुनिया है इसकी दीवानी

कोलकाता : केला एक हेल्दी फ्रूट है जिसे दुनिया भर में पसंद किया जाता है। केले को सेहत के लिए बहुत गुणकारी माना जाता है। आगे पढ़ें »

ऊपर