सजेगा पटाखों का बाजार ! व्यवसायिओं को सता रही चिंता

डरा रही कोरोना की तीसरी लहर
व्यवसायिओं के एकांश ने की प्रशासन के साथ बैठक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दीपावली और कालीपूजा में पटाखों की रोशनी अलग ही रौनक बढ़ाती है। पिछले साल कोरोना के कारण पटाखों का बाजार पूरी तरह नहीं लग पाया था। इस बार भी स्थिति कुछ इसी तरह की है। पटाखा व्यवसायिओं में इसी की चिंता सता रही है कि पिछली बार की ही तरह इस बार भी मामला कोर्ट में न पहुंच जाए जिसके परिणामस्वरूप चार दिन का बाजार पूरी तरह ठप पड़ जाएं। इसी चिंता को देखते हुए पटाखा बाजार के एकांश व्यवसायिओं ने प्रशासन के साथ बैठक की। पश्चिम बंग बाजी शिल्प उन्नयन समिति के साधारण सम्पादक शुभंकर मन्ना ने बताया कि कोलकाता डीसी शुभंकर भट्टाचार्य के साथ बैठक की गयी जिसमें मौजूदा समय को लेकर विस्तृत चर्चा की गयी। शुभंकर ने बताया ऑनलाइन पटाखों की बिक्री हो सकती है कि नहीं, लाइसेंस वाले दुकानदारों को अनुमति मिलेगी कि नहीं इन मुद्दों पर चर्चा हुई। पटाखा व्यवसायिओं का कहना है कि लाखों लोग इस पेशे से जुड़े है। पिछले साल कोर्ट की पाबंदियों की वजह से काफी नुकसान हुआ था। कुछ पर्यावरणविद् का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर के बीच पटाखों का जलना खतरनाक साबित हो सकता है। दूसरी तरफ प्रशासनिक सूत्रों ने बताया फिलहाल तय नहीं किया गया है कि पटाखों का बजार सजेगा या नहीं। जल्द इस पर फैसला लिया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

तृणमूल में जाने की चर्चाओं को नकारा अशोक लाहिड़ी ने

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही प्रदेश भाजपा में टूट जारी है। सांसद बाबुल सुप्रियो समेत कई विधायक अब आगे पढ़ें »

ऊपर