विदेशियों को घर किराये पर देने से पहले भराएं सी फॉर्म,नहीं भरने पर होगा मामला दर्ज

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : महानगर के किसी भी इलाके में अगर मकान मालिक किसी विदेशी को बिना सी फॉर्म भराए अपना घर किराए पर देता है तो उसके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। उसके खिलाफ फॉरेन एक्ट के तहत मामला दर्ज होगा। इस अपराध के लिए मकान मालिक को 8 साल की जेल की सजा हो सकती है। कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने यह जानकारी दी।
महानगर मेें रहने के लिए सी फॉर्म
महानगर में एक के बाद एक हो रही घटनाओं में विदेशी लोगों की संलिप्तता पायी गयी है। उन मामलों की जांच कर रही पुलिस ने पाया कि कई बार इन विदेशियों को अपना घर किराये पर देने के समय मकान मालिक उनसे सी फॉर्म नहीं भराते हैं। सी फॉर्म भराना कानूनी तौर पर अनिवार्य है। ऐसे में कोलकाता पुलिस महानगर के ऐसे घरों को चिह्नित कर उनके मकान मालिकों के खिलाफ कड़े कदम उठाने वाली है। महानगर में एटीएम स्कीमिंग फ्रॉड मामला प्रकाश में आने के बाद जब शहर में रह रहे रोमानियाई और तुर्की से आए लोगों से पूछताछ की जा रही थी तो पुलिस को इस बात की जानकारी मिली।
क्या है सी फॉर्म 
विदेशों से आए वे लोग जो होटल, लॉज या किराये के कमरे में रहते हैं उन्हें सी फॉर्म भरना आवश्यक होता है। सी फॉर्म में उस विदेशी नागरिक का पूरा नाम, उसकी राष्ट्रीयता (पासपोर्ट के मुताबिक), देश में आने की तारीख, किस देश से आ रहा है, भारत में रहने की प्रस्तावित अवधि और होटल का नाम और पता जैसी सूचनाएं रहती हैं। सी फॉर्म सुरक्षा के दृष्टिकोण से आवश्यक है। इसकी एक प्रति एफआरआरओ (विदेशी क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय) में जमा की जानी चाहिए। अगर विदेशी नागरिक किराये के कमरे में रह रहा है तो फॉर्म की एक प्रति स्थानीय पुलिस स्टेशन को भी जमा करनी पड़ेगी। कानूनी प्रक्रिया के अनुसार सी फॉर्म को जेनरेट करने के 24 घंटे बाद ही उसकी एक प्रति एफआरआरओ को जमा की जानी चाहिए और अगर व्यक्ति पाकिस्तानी है तो सी फॉर्म को जमा करने की अवधि 12 घंटे है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

2 साल पहले बनी पानी टंकी ताश के पत्ते की तरह ढही

16 गांवों में होती थी पानी सप्लाई सन्मार्ग संवाददाता बांकुड़ा : निर्माण के तीन वर्ष पूरा होने से पहले ही ताश के पत्ते की तरह पीएचई की आगे पढ़ें »

असली ‘टुकड़े – टुकड़े गैंग’ है सत्ताधारी पार्टी : थरूर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बुधवार को कहा कि विकास का कोई एजेंडा नहीं होने के चलते भारतीय जनता पार्टी अब एक आगे पढ़ें »

ऊपर