दुर्गा पूजा महोत्सव में अपमानित महसूस किया, बहुत दुखी हूं : जगदीप धनखड़

dhankhad

पश्चिम बंगाल : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने दुर्गा पूजा महोत्सव में काफी अपमानित महसूस किया। उन्होंने कहा कि वह इतने दुखी थे कि उन्हे इस सदमें से बाहर आने में तीन दिन का वक्त लगा। यह बात 11 अक्टूबर को दुर्गा पूजा के एक कार्यक्रम में राज्य सरकार द्वारा दरकिनार किए जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा। धनखड़ ने दावा किया कि इस कार्यक्रम में उन्हें ‘‘पूरी तरह से दरकिनार कर दिया गया।’’ उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता का सेवक होने के नाते कोई भी चीज उनके संवैधानिक कर्तव्यों को निभाने के आड़े नहीं आ सकती है।

मुझे पूरी तरह से दरकिनार किया गया

धनखड़ ने कहा कि यह एक असामान्य किस्म की सेंसरशिप है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं चार घंटे तक वहां बैठा रहा लेकिन मुझे पूरी तरह से दरकिनार किया गया। मुझे आमंत्रित करने के बाद आप मुझे सेंसर कैसे कर सकते हैं? किसी ने मुझे कहा कि यह घटना आपातकाल की याद दिलाती है। धनखड़ ने आगे कहा, ‘‘ मैं इतना दुखी था कि इस सदमे से बाहर आने में मुझे तीन दिन का वक्त लगा। ’’

यह पश्चिम बंगाल के लोगों का अपमान है

राज्यपाल धनखड़ ने कहा, ‘‘ महोत्सव में मैने अपमानित महसूस किया। मैं बहुत दुखी और व्यथित हूं। यह मेरा नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के लोगों का अपमान है। वे इस अपमान को पचा नहीं पाएंगे।’’ यहां एक कार्यक्रम से इतर धनखड़ ने कहा, ‘‘ मैं पश्चिम बंगाल के लोगों का सेवक हूं। लेकिन मेरे संवैधानिक कर्तव्यों को पूरा करने के आड़े कुछ नहीं आ सकता है।’’

तृणमूल ने बताया प्रचार का भूखा

सत्तारूढ़ तृणमूल ने पलटवार करते हुए धनखड़ को ‘‘ प्रचार का भूखा ’’ बताया। पार्टी ने कहा कि वह इस तरह से कार्य कर रहे हैं, जो राज्यपाल को शोभा नहीं देता। तृणमूल के वरिष्ठ नेता तापस रॉय ने धनखड़ पर ‘‘बिना बात का मुद्दा बनाने की कोशिश’’ करने का आरोप लगाया और कहा, ‘‘ इस मामले पर वह हफ्तेभर बाद टिप्पणी क्यों कर रहे हैं? वह प्रचार के भूखे हैं। वह इस तरह से कार्य कर रहे हैं, जो राज्यपाल को शोभा नहीं देता है। ’’

सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को हुए इस महोत्सव की बैठक से धनखड़ खुश नहीं थे। उन्होंने बताया कि राज्यपाल को मंच पर किनारे की सीट दी गई थी और इस वजह से वह कार्यक्रम को ठीक प्रकार से देख नहीं सके थे। इस कार्यक्रम में ममता बनर्जी मंत्रिमंडल के सदस्य, राज्यपाल, विभिन्‍न विणिज्य दूतावासों के सदस्य तथा अन्य गणमान्य लोग और पर्यटक शामिल हुए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता और ओवैसी में ठनी

नई दिल्ली/कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की 'अल्पसंख्यक कट्टरता' को लेकर दी गई हिदायत पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) नेता असदुद्दीन आगे पढ़ें »

Bengal new Rajypal

फिर नहीं मिला हेलिकॉप्टर, राज्यपाल सड़क मार्ग से जाएंगे मुर्शिदाबाद

कोलकाता : राजभवन और राज्य सरकार के बीच चल रही खींचतान में हेलिकॉप्टर विवाद तुल पकड़ता जा रहा है। एक बार फिर राज्यपाल जगदीप धनखड़ आगे पढ़ें »

ऊपर