गरीबी व बेटियों के जन्म से दुःखी पिता ने की आत्महत्या

death

घटना को लेकर आरामबाग में हो रही चर्चा
हुगली : आधुनिक समाज में इस बात को जोर-शोर से प्रचार किया जाता है कि बेटा-बेटी दोनों एक समान हैं लेकिन जमीनी स्तर पर वास्तविकता और हकीकत आधुनिक समाज की सोच से काफी अलग है। इस हकीकत हो उजागर करती एक घटना हुगली के आरामबाद में सामने आयी है जहां एक पिता ने गरीबी में लगातार दो कन्या संतानों के जन्म होने से दुःखी होकर फांसी लगा ली। मृतक का नाम नवकुमार दलुई है। वह आरामबाग के माधवपुर इलाके का रहने वाला था। मजदूरी करके वह किसी तरह अपने परिवार का पेट पालता था। उसे पहले ही एक बेटी थी मगर पुनः उसकी पत्नी ने एक बेटी को जन्म दिया है जिसे लेकर काफी मायूस हो चुका था। उसे इस बात की चिंता सता रही थी कि किस तरह से बेटी को पाल पोसकर वह बड़ा करेगा। उसकी पढ़ाई-लिखाई और ब्याह का खर्चा कैसे उठा पायेगा। इसको लेकर ही वह मानसिक तनाव से गुजर रहा था। इस बीच ही शनिवार को उसका फंदे से झूलता शव बरामद किया गया। इस घटना को लेकर इलाके में शोक का माहौल है और लोगों में इस घटना को लेकर चर्चा मची है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पत्नी के अवैध संबंध से परेशान व्यक्ति ने की उसकी हत्या

जीवनतल्ला में नाका चेकिंग के दौरान पकड़ा गया अभियुक्त बासंती हाईवे पर महिला का शव फेंका था अभियुक्त ने सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पत्नी की बेवफाई से परेशान आगे पढ़ें »

घंटों तक नहीं उतरेगा नशा, बेड पर जरूर आजमाएं ये तरीके

नई दिल्ली : लंबे समय तक रिश्तों में कई कपल्स सेक्स के दौरान बिस्तर में नई चीजों की कोशिश करना चाहते हैं। यह बिल्कुल भी आगे पढ़ें »

ऊपर