वार्ड 42 में 27 वर्षों की सत्ता का पतन, तृणमूल ने भाजपा से छीनी सीट

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मंगलवार को कोलकाता नगर निगम चुनावों के नतीजों में तृणमूल ने एकतरफा जीत हासिल की। वार्ड नं. 42 में पिछले 27 वर्षों की सत्ता का पतन हो गया। यहां से तृणमूल उम्मीदवार महेश शर्मा ने जीत हासिल की। तृणमूल के महेश शर्मा ने यहां भाजपा उम्मीदवार व पिछले 27 वर्षों से पार्षद बनती आ रहीं सुनीता झंवर को 728 वोटों से हराया। यहां भाजपा को कुल 2,625 वोट मिले जबकि तृणमूल को 3,353 वोट मिले हैं। भाकपा के प्रदीप कुमार सिंह यहां से अपनी जमानत तक नहीं बचा पाये और केवल 27 वोट उन्हें मिले।
भाजपा का गढ़ रहा है वार्ड 42
वार्ड नं. 42 में मिली जीत को तृणमूल अपनी बड़ी जीत मान रही है क्योंकि इस वार्ड से पिछले 27 वर्षों से भाजपा जीतती हुई आयी है। इस समय पहली बार ऐसा हुआ है कि वार्ड नं. 42 में तृणमूल ने भाजपा के किले को तोड़ा। इस वार्ड से वर्ष 1985-1990 तक कांग्रेस के टिकट से ओमप्रकाश पोद्दार ने जीत हासिल की थी। वर्ष 1990 में यहां से भाजपा के भगत राम अग्रवाल ने जीत दर्ज की थी। 1995 में ये वार्ड महिला वार्ड बन गया था, 1995 से भाजपा के टिकट से सुनीता झंवर लगातार यहां से जीतती हुई आ रही थीं, लेकिन इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।
दो राउंड तक आगेे थी भाजपा, बाद में पलटा पासा
शुरुआत के दो राउंड तक भाजपा उम्मीदवार सुनीता झंवर लगभग 93 वोटों से आगे थीं। उस समय जमुनालाल बजाज स्ट्रीट इलाके की गिनती हो रही थी। हालांकि दूसरे राउंड के बाद ही पासा पलट गया और धीरे – धीरे तृणमूल उम्मीदवार महेश शर्मा ने यहां बढ़त बनानी शुरू की। प्रत्येक राउंड के बाद फासला बढ़ता गया और अंतिम राउंड तक तृणमूल 728 वोटों से आगे निकल चुकी थी।
सबकी मेहनत ने लाया रंग : महेश शर्मा
जीतने के बाद तृणमूल उम्मीदवार महेश शर्मा ने कहा, ‘हमारे कार्यकर्ताओं की मेहनत ने रंग लाया है। सबसे पहला काम होगा कि वार्ड में 30 वर्षों के कूड़े की सफाई करूंगा। विधायक विवेक गुप्त के प्रयासों के कारण ये जीत मिली है।’
कोविड वॉरियर की हुई जीत : ओमप्रकाश पोद्दार
पूर्व पार्षद ओमप्रकाश पोद्दार ने महेश शर्मा की जीत पर बधाई देते हुए कहा, ‘ये जीत कोविड वॉरियर की जीत है। जिस तरह उन्होंने कोविड काल में वार्ड के लोगों की सेवा की और खुद पार्षद इलाके से गायब रहीं, उन सेवा कार्यों के कारण ही तृणमूल की जीत हुई है।’
एक नजर वार्ड पर
महात्मा गांधी रोड, कॉटन स्ट्रीट, बड़तल्ला स्ट्रीट, रवींद्र सरणी, राजा वूडमंट स्ट्रीट, बिप्लवी त्रिलोक्य महाराज सरणी, बिप्लवी रासबिहारी बोस रोड, स्ट्रैंड रोड, सीआईटी रोड, नेताजी सुभाष रोड, जगमोहन मल्लिक लेन से घिरा ये वार्ड हमेशा से ही भाजपा का गढ़ रहा है। पिछले 5 बार से यहां भाजपा की सुनीता झंवर जीतती आ रही थीं, लेकिन इस बार उन्हें हार का स्वाद चखना पड़ा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दक्षिण दमदम ने कायम की मिसाल, डबल डोज सर्टिफिकेट दिखाने पर संपत्ति कर में 25% की छूट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना से लड़ने के लिए सबसे जरूरी है वैक्सीनेशन। ऐसे में टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण दमदम नगर पालिका के आगे पढ़ें »

ऊपर