गुटबाजी इतनी कि भाजपाइयों ने अपने ही नेता के खिलाफ लगा दिया पोस्टर

कोलकाता : प्रदेश भाजपा के उत्तर कोलकाता नेतृत्व में गुटबाजी इतनी बढ़ गयी है कि भाजपाइयों ने अपने ही नेता के खिलाफ अपने ही कार्यालय के गेट पर पोस्टर लगा दिये हैं। पोस्टर पर लिखा है, ‘बीजेपी तुझसे बैर नहीं, शिवाजी तेरी खैर नहीं।’ उत्तर कोलकाता में यूं तो पार्टी में गुटबाजी पिछले काफी समय से है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से ये गुटबाजी कई बार उभरकर सामने आयी है। एक तरफ दिनेश पाण्डेय तो दूसरी तरफ शिवाजी सिंघा राय की लॉबी उत्तर कोलकाता में चल रही है।​ पार्टी सूत्रों के अनुसार, शिवाजी सिंघा राय द्वारा शरद सिंह को महासचिव बनाये जाने को लेकर पार्टी के कुछ पुराने कार्यकर्ता नाराज चल रहे थे। आराेप है कि मण्डल अध्यक्ष व अन्य पदों पर भी शिवाजी सिंघा राय द्वारा अपने लोगों को पदों पर बैठा दिया गया। इस कारण पुराने कार्यकर्ता उनसे और नाराज हो गये और पार्टी में गुटबाजी बढ़ने लगी। बढ़ती गुटबाजी को रोकने के लिए शिवाजी ने पदों पर बैठे कार्यकर्ताओं पर लगाम कसने की कोशिश की। ऐसे में उन कार्यकर्ताओं ने भी अलग मोर्चा खोल दिया। शिवा​जी को दिनेश पाण्डेय के गुट, अपने ही समर्थकों और साथ में पुराने कार्यकर्ताओं का गुस्सा भी झेलना पड़ रहा है। हालत कुछ ऐसी हुई कि जो नयी कमेटी बनी, उसमें भी 2 भाग हो गये। कुछ दिनों पहले मुरलीधर सेन लेन के प्रदेश मुख्यालय के सामने पुराने भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध – प्रदर्शन भी किया था। उत्तर कोलकाता में भाजपा के सूत्र बताते हैं कि प्रदेश नेतृत्व भी उत्तर कोलकाता में इन मसलों को हल नहीं कर पा रहा है। यहां तक कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के चा चक्र को लेकर भी समस्या हो रही थी। जिलाध्यक्ष को सूचित किये बगैर ही दिलीप घोष का चा चक्र कार्यक्रम भी हो जा रहे हैं। इस बारे में उत्तर कोलकाता भाजपा अध्यक्ष शिवाजी सिंघा राय ने कहा कि जिसकी जो इच्छा है करे, इस पर मैं कुछ नहीं कह सकता।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चुनावी युद्ध में शब्दों के जहरीले तीर से लहुलूहान हो रहे हैं नेता

कोलकाता : विधानसभा चुनाव जैसे नजदीक आ रहे हैं, राज्य की राजनीति में उबाल बढ़ता जा रहा है। हालांकि कहा जा रहा है कि इस आगे पढ़ें »

रायदीघी से चुनाव नहीं लड़ना चाहती हैं तृणमूल की विधायक देवश्री

कहा - काफी अपमानित हुई हूं, धमकियां भी मिलीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा चुनाव से पहले मशहूर अभिनेत्री व दो बार की तृणमूल विधायक देवश्री राय आगे पढ़ें »

ऊपर