निगम चुनाव के तहत ईवीएम की जांच प्रक्रिया शुरू

निगम चुनाव की अधिसूचना को लेकर चर्चाएं जोरों पर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः लोकसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ईवीएम पर आपत्ति जताई थी। उस दौरान उन्होंने दावा किया था कि वोट में धांधली ईवीएम के जरिए की गई है। यहां तक ​​कि उन्होंने ईवीएम को हटाकर मतदान प्रक्रिया में बैलेट पेपर से वापस कराने की मांग कर डाली थी। चूंकि नगर निगम के वोट की जिम्मेदारी राज्य चुनाव आयोग के हाथों में होती है, इसलिए उम्मीद की जा रही थी कि चुनाव पूर्व मतपत्र (बैलेट पेपर) वापस प्रक्रिया में आ सकता है। हालांकि सूत्रों के मुताबिक निगम चुनाव में भी ईवीएम के परीक्षण का काम शुरू हो चुका है। दूसरी तरफ अब नगर निगम के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी किए जाने को लेकर काफी चर्चा चल रही है। आयोग सूत्रों का कहना है कि जिलाधिकारियों को ईवीएम जांच के लिए पत्र भेजा जा चुका था। सूत्रों की मानें तो कोलकाता और हावड़ा में शहर और शहरी विकास विभाग ने राज्य चुनाव आयोग को पत्र लिखकर 19 दिसंबर को चुनाव कराने की मांग की है। सूत्रों की मानें तो जल्द ही राज्य सरकार की ओर से पत्र भेजा जा रहा है। दूसरी तरफ चुनाव की तैयारी में ईवीएम की जांच के लिए जिलाधिकारियों को पहले ही पत्र भेजा जा चुका है। बताया गया है कि पिछले शनिवार से ईवीएम जांच का काम शुरू हो गया है। इस वोट में एम-2 टाइप की ईवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा। आमतौर पर चुनाव आयोग एम-3 प्रकार की ईवीएम का उपयोग करता है और राज्य चुनाव आयोग एम-2 प्रकार की ईवीएम का उपयोग करता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रहे वसीम रिजवी ने ‘घर वापसी’, अपनाया हिंदू धर्म

गाजियाबाद : उत्तर प्रदेश शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्‍लाम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया। सोमवार सुबह उन्होंने डासना देवी आगे पढ़ें »

ऊपर