‘एजेंसी रूल’ खत्म करें, सीबीआई-ईडी को करने दें स्वतंत्र कार्य : ममता

केंद्र सरकार पर लगाया बड़ा आरोप, कहा : तुगलकी तरीके से देश में कर रही है शासन
बोलीं, चुनाव देखकर जनता को करती है गुमराह
लालू के घर रेड पर उठाया सवाल
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई, ईडी जैसी एजेंसियों को लेकर ममता बनर्जी अक्सर केंद्र की भाजपा सरकार को सवालों के घेरे में लेती रही हैं। एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एजेंसियों को लेकर केंद्र को निशाने पर लिया तथा कहा कि केंद्र सरकार एजेंसी रूल को खत्म करे तथा इन एजेंसियों को स्वतंत्र रूप में अपना काम करने की छूट दे। सोमवार को नवान्न में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने एजेंसियों को ऑटोनॉमस करने का प्रस्ताव दिया तथा कहा कि ऐसा होता है तो समस्त एजेंसियां निष्पक्ष होकर अपना काम करेंगी। इसके लिए ऐसी पॉलिसी बनानी चाहिए जिसमें केंद्र या राज्य सरकार कोई भी सिर्फ उन्हें वेतन दे, कार्य प्रक्रिया में सरकार का किसी तरह का हस्तक्षेप न हो। ममता ने कहा, ‘भाजपा सरकार भारत के संघीय ढांचे को धराशायी कर रही है। एजेंसियों का उपयोग करके राज्य के मामलों में हस्तक्षेप करना मुख्य काम हो गया है। इन एजेंसियों को स्वायत्तता दी जानी चाहिए।’
केंद्र जो कर रहा हिटलर, स्टालिन, मुसोलिनी तक ने कहीं किया
ममता बनर्जी ने केंद्र की भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि पूरे देश में तुगलकी तरीके से शासन किया जा रहा है। जिस तरीके की राजनीतिक स्तर पर प्रतिहिंसा की जा रही है वैसा इतिहास में हिटलर, स्टालिन यहा तक कि मुसोलिनी तक ने नहीं किया है। ममता ने कहा कि मैं माफी चाहूंगी लेकिन आज देश की जो स्थिति है देखकर कहना पड़ रहा है कि मोदी सरकार ने देश को बर्बाद कर दिया है। रेल से लेकर हर चीज का निजीकरण किया जा रहा है। इसे बदलने की जरूरत है, तभी देश बचेगा।
चुनावी मौसम देख करती है घोषणाएं
ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया कि वह चुनावी मौसम के आधार पर योजना संबंधित घोषणा करती है। एलपीजी पर 200 रुपये की सब्सिडी का उल्लेख कर ममता ने कहा कि आखिर कितने लोगों को इसका लाभ मिलेगा। एक गरीब जिसे उज्ज्वला से एलपीजी का कनेक्शन तो मिल गया है लेकिन 800 रुपये देकर वह उसे भरवाएगा कैसे, जबकि उसके पास खाने तक के लाले पड़े होते हैं। इसी तरह उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड को लेकर जो क्राइटेरिया अब बताया जा रहा है उसके हिसाब से तो किसी को राशन कार्ड मिलेगा ही नहीं। अगर ऐसा ही करना था तो चुनाव से पहले यह घोषणा क्यों नहीं की गयी ? भाजपा का मकसद ही चुनाव देखकर जनता को गुमराह करने का होता है।
लालू यादव के यहां रेड क्यों ?
ममता ने लालू यादव के यहां हुए रेड पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि इतने दिनों तक लालू जेल में रहे। अब उनके अलग-अलग ठिकानों पर रेड करवाने का आखिर मतलब क्या बनता है। बिहार चुनाव करीब आ रहा है, क्या इसलिए भाजपा विपक्ष को कमजोर करने की योजना बना रही है? केंद्र सरकार क्या बता सकती है कि भाजपा के ​कितने नेताओं को गिरफ्तार किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

माओवादियों के नाम पर आतंक फैलाने के आरोप में एक होमगार्ड समेत 6 गिरफ्तार

झाड़ग्राम: माओवादियों के नाम से लोगों को पत्र लिख व फोन कर धमकी देने व उगाही करने के आरोप में पुलिस ने एक होमगार्ड समेत आगे पढ़ें »

ऊपर