तीन चरणों में चुनाव नहीं हो सकतेः चुनाव आयोग

बंगाल के बाकी चरणों के चुनाव को लेकर मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने की वीडियो कान्फ्रेंसिंग
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में विधानसभा चुनाव के दौरान रैलियों और रोड शो में कोविड नियमों का पालन न करने को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। इस बीच यह भी खबरें आ रही थीं कि तीन चरणों के चुनाव को एक साथ ही करवाया जा सकता है। हालांकि तमाम तरह की चर्चाओं पर चुनाव आयोग ने विराम लगा दिया है। चुनाव आयोग ने गुरुवार को साफ कर दिया कि बंगाल में बचे हुए चुनाव एक साथ नहीं करवाए जा सकते हैं। राज्य में कुल चार चरण के मतदान हो चुके हैं। पांचवें चरण का मतदान 17 अप्रैल को होना है। आयोग सूत्रों की मानें तो मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) सुशील चंद्रा ने बंगाल चुनाव को लेकर गुरुवार को एक वीडियो कान्फ्रेंसिंग की। इसमें राज्य चुनाव के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) आरिज आफताब, एडीजी(कानून व्यवस्था) जग मोहन, सभी पर्यवेक्षक, स्पेशल जनरल ऑब्जर्वर अजय नायक व स्पेशल पुलिस ऑब्जर्वर विवेक दुबे व अन्य अधिकारी शामिल रहे। माना जा रहा है कि इस दौरान ही चुनावी तैयारियों को लेकर चर्चा हुई। राज्य में चार चरण की वोटिंग बची है। आयोग सूत्रों की मानें तो सीईसी ने साफ किया है कि राज्य में पहले से तय तारीखों पर ही चुनाव होंगे। आयोग ने साफ किया है कि तीन चरणों के चुनाव एक साथ नहीं करवाए जा सकते हैं। एक चुनाव अधिकारी ने कहा कि तकनीकी तौर पर ऐसा किए जाने में काफी दिक्कतें होंगी। यही वजह है ‌कि फिलहाल इस पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। उल्लेखनीय है कि राज्य में चुनावों के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है या नहीं, इसकी समीक्षा करने के लिए चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों के नेताओं की एक बैठक शुक्रवार को बुलाई है। कलकत्ता हाई कोर्ट ने चुनावी रैलियों में सोशल डिस्‍टेंसिंग तार-तार होने की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए चुनाव आयोग की खिंचाई की थी। अदालत ने आयोग से कहा था कि वह सुनिश्चित करे कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन सख्‍ती के साथ हो।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर