वोटर कार्ड नहीं देखेंगे अर्द्धसैनिक बल के जवान

तृणमूल की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने किया आश्वस्त
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः मतदान केंद्रों पर मतदाताओं के पहचान पत्र की जांच अर्द्धसैनिक बल के जवानों की ओर से किए जाने की शिकायत मिली थी। चुनाव नियमों के अनुसार, केवल पहले मतदान अधिकारी ही मतदाताओं के पहचान पत्र की जांच कर सकते हैं। चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस के आरोपों के आधार पर इस नियम को सख्ती से लागू करने का निर्देश दिया। राज्य निर्वाचन आयोग के नोडल अधिकारी ए.के.सिंह व एडीजी कानून व्यवस्था जग मोहन को यह नियम लागू करने के लिए ठोस उपाय किए जाने की बात कही गई है। दरअसल तृणमूल कांग्रेस के एक उच्च-स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने राज्य चुनाव आयोग के कार्यालय में केंद्रीय बलों के खिलाफ शिकायतों की एक श्रृंखला दर्ज की थी। साथ ही वोट को प्रभावित करने के लिए केंद्रीय बलों के खिलाफ कई आरोप दर्ज कराए थे।
तृणमूल प्रतिनिधिमंडल की इस मांग के बाद आयोग के अधिकारियों ने राज्य के नोडल अधिकारी एके सिंह के साथ बैठक की। ऐसे में साफ किया गया है कि अर्द्धसैनिक बल के जवान मतदाताओं के पहचान पत्र की जांच नहीं कर सकेंगे। मतदान अधिकारी मतदाताओं के पहचान पत्र की जांच करेगा। हालांकि, सुरक्षा के हित में, सुरक्षा बल दूर से जांच सकते हैं कि क्या लाइन में खड़े लोगों के पास कोई पहचान पत्र है या नहीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल ने फिर 3 चरणों के चुनाव को 1 चरण में कराने की मांग की

सीईओ आरिज आफताब को सौंपा ज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः तृणमूल कांग्रेस ने एक बार फिर से कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर राज्य के तीन चरणों के मतदान आगे पढ़ें »

90 ड्राइवरों व गार्ड के संक्रमित होने के बाद लोकल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

कोलकाता : पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह आगे पढ़ें »

ऊपर