नारदा मामले में ईडी भी करेगी कार्रवाई, अटैचमेंट के लिए तैयारी शुरू

कोलकाता : नारदा मामले में अब इंफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) की टीम भी कार्रवाई बहुत जल्द करने वाली है। ईडी सूत्रों के मुताबिक नारदा मामले की छानबीन ईडी भी कर रही है। ईडी अधिकारी के मुताबिक नारदा मामले में हमारी कार्रवाई लगभग पूरी हो चुकी है। सिर्फ सीबीआई की टीम के चार्जशीट का इंतजार हो रहा था। सोमवार को सीबीआई की टीम ने चार्जशीट दायर कर दी थी। इसकी कॉपी ईडी अधिकारियों के पास आ चुकी है। अब इनमें बनाये गये पांचों अभियुक्तों के खिलाफ ईडी की टीम आगे की कार्रवाई करेगी। इसमें अभियुक्तों की आय के साथ असंगतिपूर्ण संपत्ति को अटैच किया जाएगा। ईडी सूत्रों के मुताबिक इस बार जल्द ही इन अभियुक्तों की संपत्ति की जांच पूरी कर ली जाएगी। उनकी चल-अचल संपत्ति के खाते का मिलान कानूनी तरीके से करने के बाद उनकी भ्रष्टाचार से अर्जित संपत्ति को अटैच किया जाएगा। अगर कोई समस्या हुई तो उनके खिलाफ अलग से केस दर्ज किया जाएगा। ऐसे में अभियुक्तों को रिमांड पर लिया जा सकता है। ईडी के एक जांच अधिकारी ने कहा कि हमारी रिपोर्ट लगभग तैयार है। जल्द ही कोर्ट में इसे पेश किया जाएगा और अदालत की अनुमति मिलने के बाद अटैचमेंट की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। अभियुक्तों की आय से असंगत संपत्तियों को अटैच किया जाएगा। इस संबंध में हर संभव कानूनी कार्रवाई की समीक्षा की जा रही है। अभियुक्तों के साथ-साथ उनके रिश्तेदारों की संपत्ति का भी हिसाब लगाया जा रहा है। यह देखा जाना बाकी है कि उनमें से किसी के पास बेनामी संपत्ति है या नहीं।
आखिर अब तक क्यूं नहीं अटैच की जा सकी अभियुक्तों की संपत्ति
जांचकर्ताओं का दावा है कि नारदा-कांड में कुछ मामलों में, संपत्ति कुछ अभियुक्त के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति पाई गई थी। ईडी का कहना है कि जांच पूरी होने के करीब है। इस मामले में, ईडी के लिए सीबीआई चार्जशीट जमा करने से पहले अंतिम रिपोर्ट प्रस्तुत करना कानूनी रूप से संभव नहीं है। वहीं इस स्टिंग ऑपरेशन को करने वाले मैथ्यू का आरोप है कि करीब 4 साल बीत जाने के बाद भी ईडी के जांचकर्ताओं ने जांच की गति को लेकर अदालत को रिपोर्ट नहीं दी है। उस मामले में, ईडी की जांच की गति सीबीआई की रिश्वत जांच के परिणाम पर निर्भर करेगी। माना जा रहा है कि जांच प्रक्रिया में देरी हो सकती है क्योंकि सीबीआई ने इतने लंबे समय तक चार्जशीट दाखिल नहीं की है। कुछ मामलों में न केवल अभियुक्त बल्कि उनके रिश्तेदारों और करीबी सहयोगियों से भी पूछताछ की गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर