बंगाल के कई सीनियर पुलिस अधिकारियों की बढ़ने वाली है मुश्किलें, ईडी ने भेजा नोटिस

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के कई सीनियर पुलिस अफसरों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मिली जानकारी के अनुसार केन्द्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय- ईडी ने पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है। सूत्रों के अनुसार यह मामला पश्चिम बंगाल -झारखंड – यूपी में करोड़ों रुपये के कोयला घोटाले से संबंधित है। जानकारी के मुताबिक ईडी ने पांच IPS अधिकारी सहित पुलिस अधिकारियों को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है। पूछताछ के लिए पुलिस अधिकारियों को दिल्ली स्थित ईडी मुख्यालय बुलाया गया है। सूत्रों के अनुसार कोल घोटाला मामले में हुई छापेमारी के दौरान कई डायरी मिली थी। उसी डायरी के पन्नों में कई अन्य आरोपियों के साथ लाखों -करोड़ों रुपये के लेनदेन की जानकारी लिखी है। दावा किया गया कि आरोपी अनूप मांझी से जुड़े और उसके कई करीबी पुलिसकर्मियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

इस मामले में सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी, और साली से भी पूछताछ हो सकती है। इसी साल विधानसभा चुनाव के पहले पश्चिम बंगाल अपराध जांच शाखा (सीआईडी) ने करोड़ों रुपये के कोयला घोटाले के प्रमुख आरोपी अनूप मांझी उर्फ लाला के एक करीबी सहयोगी को पश्चिम वर्धमान जिले के अंदल से गिरफ्तार किया था। मामले की जांच शुरू होने के बाद से राज्य अपराध जांच विभाग द्वारा की गई यह पहली गिरफ्तारी थी। गिरफ्तार किया गया व्यक्ति रणधीर सिंह काफी समय से लाला के लिए काम कर रहा था और घोटाले में शामिल है।

CBI, ED और CID कर रही मामले की जांच
सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) संयुक्त रूप से मामले की जांच कर रहे हैं, वहीं राज्य सीआईडी ने घोटाले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। सीबीआई ने लाला के लिए लुक आउट नोटिस भी जारी किया है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश में कई स्थानों पर छापे भी मारे गए थे।

सीबीआई ने कोयला चोरी के गिरोह के कथित सरगना अनूप मांझी उर्फ लाला, ईसीएल के महाप्रबंधक अमित कुमार धर और जयेश चंद्र राय, ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, कुनुस्तोरिया इलाके के सुरक्षा निरीक्षक धनंजय राय और कजोरा इलाके के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ पिछले साल नवंबर में प्राथमिकी दर्ज की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः मार्केट खुलने के एक महीने में भी पटरी पर नहीं लौट पा रहा व्यवसाय

कोरोना काल, ट्रेनों का बंद रहना और तीसरी लहर के डर से नहीं हो रही भीड़ सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस की दहशत कुछ कम होने आगे पढ़ें »

ऊपर