दिलीप ने सीएम पर बाढ़ को लेकर किया कटाक्ष

कहा : दस साल तक कुछ नहीं किया बंगाल सरकार ने
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में बाढ़ की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की उदासीनता को जिम्मेदार ठहराया है। दूसरी तरफ इस पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी की सरकार की भूमिका पर ही सवाल उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि बाढ़ के दौरान तृणमूल नेत्री सिर्फ पानी में खड़े होकर फोटो खिंचवाने आई थीं। दिलीप ने कहा कि तृणमूल सरकार ने पिछले 10 वर्षों में बाढ़ को नियंत्रित करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। इतना ही नहीं, भले ही केंद्र ने पैसा दिया, लेकिन इस पैसे का इस्तेमाल बाढ़ से निपटने के लिए नहीं किया गया था। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने मंगलवार को घाटाल जा रही हैं। इससे पहले दिल्ली से बंगाल पहुंचे दिलीप ने जमकर सीएम पर कटाक्ष किया। वह दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस में चढ़े और हिजली स्टेशन पर उतर गए। दिलीप ने कहा, ममता बनर्जी की आदत हो गई है कि अगर वह खुद कुछ नहीं कर सकतीं तो दोष दूसरों पर मढ़ देती हैं। वह पिछले 10 साल से मुख्यमंत्री हैं। बाढ़ को नियंत्रित करने के लिए आपने क्या किया है? आप कोलकाता को नहीं बचा सकते, घाटाल, खानकुल बहुत दूर हैं। तीन साल पहले उत्तर बंगाल में बाढ़ आई थी। दोनों दिनाजपुर, मालदह में बाढ़ आई थी। उन्होंने मालदह जाकर तस्वीरें खिंचवायी। इस बार भी उन्होंने फोटे खिंचवाया और निकल गईं। अगले साल फिर बाढ़ आएगी। वह फिर से फोटो खिंचवाने आएंगी।
उन्होंने कहा, ”केंद्र ने विभिन्न परियोजनाओं के लिए हजारों करोड़ रुपये दिए हैं। डीवीसी राज्य से बात करने के बाद ही पानी छोड़ता है। वहीं डीवीसी पर अब इसे नहीं संभालने का आरोप लगाया जा रहा है।
घाटाल के सांसद देब ने हाल ही में टिप्पणी की थी कि ममता के प्रधानमंत्री बनने तक घाटाल मास्टर प्लान को लागू नहीं किया जा सकता है। दिलीप ने भी उन्हें ताना मारा। उन्होंने कहा, ”उनकी बहन पिछले 10 साल से मुख्यमंत्री हैं, वह खुद सात साल से सांसद हैं। इतने दिनों में क्या किया? उन्हें लगा कि यह ऐसे ही चलेगा। क्या लोगों ने पानी में तैरने के लिए वोट किया था? अब उनका कहना है कि दीदी अगर प्रधानमंत्री बनीं तो स्थिति सुलझ जाएगी।
पैसा देकर किसान आंदोलन
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने किसान आंदोलन पर भी प्रहार किया। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन फर्जी है। आंदोलन व्यवस्थित नहीं है, लोगों को पैसे से आंदोलन में बुलाया जा रहा है। उनका एकमात्र लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

डेंगू से बचने के लिए हावड़ा में कबाड़ में पड़ी कार को हटायेगा निगम

लार्वा मिलने पर इमारत में लगाये जा रहे हैं 'डेंगू हॉटस्पॉट' के पाेस्टर साढ़े 12 लाख रुपये की लायी गयी गप्पी मछली सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : डेंगू को आगे पढ़ें »

ऊपर