रक्षक की भूमिका में डटी रहीं दीदी

लोगों से की अपील, जलजमाव वाले इलाके में बंद रखें विद्युत परिसेवा
कल करेंगी मिदनापुर का हवाई सर्वे
आज तक सतर्क रहने का दिया निर्देश
कहा – एक करोड़ लोगों पर आई आफत
कोलकाता : यास जैसे महाचक्रवात से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार ममता बनर्जी की टीम ने बड़ी ही सूझबूझ से स्थिति को संभाला। इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रक्षक की भूमिका में डटी रहीं। रात भर वह नवान्न कंट्रोल रूम में रहीं। वही उनके साथ उनकी पूरी टीम भी राज्य भर में अलर्ट रही। कई लोग तो फील्ड में रहे। यास चला गया लेकिन बंगाल में तबाही मचा गया। इस दौरान प्रशासन की ओर से पूरी तत्परता के साथ कंट्रोल रूम के जरिए राज्य भर के हर उस जिले में नजर रखी गई जहां इस चक्रवात का प्रभाव पड़ना था। सभी टीमों को अलग-अलग मोड पर रखा गया जो लोगों के पास उनकी मदद के लिए खड़ी थी।
एक करोड़ लोग प्रभावित, तीन लाख मकान क्षतिग्रस्त
ममता बनर्जी ने बताया कि इस चक्रवात का संकट राज्य के एक करोड़ लोगों पर आया है। प्रशासन की तरफ से करीब 15 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर आश्रय दिया गया है। जब तक स्थिति ठीक नहीं हो जाती उनका ध्यान रखना सरकार की जिम्मेदारी होगी। वहीं करीब लाखों मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं, जिन्हें जल्द से जल्द ठीक करने के लिए ममता बनर्जी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है। ममता ने यह भी बताया कि एक व्यक्ति मछली पकड़ने गया था जिसकी वजह से दुर्घटनावश उसकी मौत हो गई। उन्होंने दावा किया है कि इस चक्रवात से सबसे अधिक प्रभावित बंगाल हुआ है। अब यह नुकसान कितना हुआ है इसकी सर्वे रिपोर्ट 72 घंटों के भीतर तैयार की जाएगी क्योंकि अभी इलाकों में पानी भरा हुआ है और ऐसी स्थिति में वहां किसी को भेजना यानी उसकी जान के साथ खेलना होगा।
जलजमाव वाले इलाके में बंद रखें बिजली परिसेवा
ममता बनर्जी ने लोगों से खास अपील की है कि वह उस इलाके में जहां जलजमाव है बिजली पारिसेवा बंद रखें क्योंकि यह स्थिति होती है, जहां दुर्घटना घटने में वक्त नहीं लगता। करंट लगने की स्थिति ना बने इसके लिए खुद ही सजग रहना जरूरी है। इलाके में अगर पानी भरा हुआ है तो वहां बिजली ना चालू करें। ऐसा करने से किसी न किसी कारणवश पानी में करंट आ जा सकता है, जिससे घटना घट सकती है। मुख्यमंत्री ने विद्युत विभाग से भी ऐसे इलाकों पर नजर रखने के लिए कहा है। लोगों से ममता ने अपील की है कि जलजमाव के बावजूद वह अपने घरों में भी बिजली चालू करके रखते हैं, ऐसा ना करें, ऐसा उन्हीं के लिए जान का खतरा बन सकता है।
कल करेंगी प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे
ममता ने बताया कि कल वह पूर्व मिदनापुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगी। वह आज ही जाना चाहती थीं लेकिन मौसम विभाग के अनुसार आज भी राज्य में बारिश होगी जिसकी वजह से उन्होंने अपना यह कार्यक्रम आगे बढ़ा दिया। यह वह इलाके हैं जहां इस चक्रवात का सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है।
आज भी लोगों को सतर्क रहने की हिदायत
मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वह आज सतर्क रहें क्योंकि समुद्र में आज भी उफान रहेगा और गंगा की लहरें हाई टाइड की वजह से आज भी खतरनाक निशान पर रहेंगी। इसलिए तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। अगर वह अभी भी इस इलाके में रह रहे हैं तो समय रहते सुरक्षित इलाके में आ जाएं, प्रशासन उनके साथ है, उन्हें जिस भी किसी चीज की आवश्यकता होगी सरकार उन्हें तुरंत देगी। उन्होंने प्रशासन के लिए भी इस स्थिति को चैलेंजिंग माना है क्योंकि इलाके में कब कहां कितना पानी प्रवेश कर जाएगा यह कहा नहीं जा सकता। इसलिए प्रशासन अलर्ट रहे और इस स्थिति का सामना करे, ऐसी हिदायत ममता बनर्जी ने अपने अधिकारियों को दी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर