डीवाईएफआई के नवान्न अभियान को लेकर रणक्षेत्र बना धर्मतल्ला

डीवाईएफआई और पुलिस समर्थकों में झड़प, दर्जनों घायल
रोजगार की मांग पर डीवाईएफआई ने निकाला था नवान्न अभियान
कोलकाता : डीवाईएफआई के नवान्न अभियान के दौरान धर्मतल्ला इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। इस दौरान पुलिस और वाम समर्थकों में झड़प हो गयी। झड़प के दौरान दर्जनों पुलिस कर्मी एवं वाम समर्थक घायल हो गए। आरोप है कि डीवाईएफआई समर्थकों ने जमकर पथराव किया। डीवाईएफआई समर्थकों के पथराव में डीसी जादवपुर राशिद मुनीर खान, ओसी बड़ाबाजार सलील कुमार राय, ओसी श्यामबाजार ट्रैफिक गार्ड राज कुमार सिंह और एसीपी हेडक्वार्टर्स शोभन बनर्जी घायल हो गए। वहीं पुलिस ने मामले में कुल 42 वाम समर्थकों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि उग्र वाम समर्थकों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने के साथ वॉटर कैनन का भी इस्तेमाल किया।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार गुरुवार को डीवाईएफआई द्वारा रोजगार की मांग पर नवान्न अभियान आह्वान किया गया था। तय कार्यक्रम के तहत सियालदह और हावड़ा स्टेशन से हजारों वाम समर्थक कॉलेज स्ट्रीट में पहुंचे। कॉलेज स्ट्रीट में सभा के बाद नवान्न अभियान हुआ। दोपहर के समय जैसे ही डीवाईएफआई समर्थक डोरीना क्रॉसिंग पर पहुंचे तो वहां पुलिस ने उन्हें रोका। इ दौरान वाम समर्थकों ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की। पुलिस द्वारा रोके जाने पर वाम समर्थकों ने पुलिस पर पथराव किया। पथराव में कई पुलिस कर्मी घायल हो गए। वाम समर्थकों को उग्र होते देख पुलिस ने पहले जल कमान के जरिए उन्हें रोकने की कोशिश की और बाद में लाठीचार्ज कर भीड़ को नियंत्रित किया। पुलिस ने आंसू-गैस के गोले भी छोड़े। वाम नेताओं ने दावा किया कि पुलिस की कार्रवाई में कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। राज्य में रोजगार और औद्योगिकीकरण की मांग को लेकर वाममोर्चा में शामिल संगठनों के कार्यकर्ता नबान्न की ओर मार्च कर रहे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ी खबर : एक्ट्रेस तापसी पन्नू और डायरेक्टर अनुराग कश्यप के घर पर आयकर के छापे

नई दिल्ली : बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप, एक्ट्रेस तापसी पन्नू और मधु मनटेना के घर पर आयकर विभाग ने छापा मारा है। मधु मनटेना के आगे पढ़ें »

सोने से पहले इस तरह भर लें बाल्टी में पानी, सुबह आपको मिलेगी गुड न्यूज

कोलकाताः वास्तु शास्त्र को हम सब लोग जानते ही हैं, और यह भी जानते हैं कि वह हमारी रोज की जिन्दगी के लिए कितना माईने आगे पढ़ें »

ऊपर