धनखड़ ने किया दावा- ‘महाभारत के अर्जुन के पास थी परमाणु श‌क्ति’

dhankhad

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रामायण काल में ‘पुष्पक विमान’ और महाभारत काल में अर्जुन के तीरों में परमाणु शक्ति होने का दावा किया है। हाल ही में एक कार्यक्रम में पहुंचे धनखड़ ने कहा कि, ‘उड़ने वाली वस्तुएं 20वीं शताब्दी की खासियत नहीं है बल्कि रामायण काल में भी हमारे पास हवा में उड़ने वाला पुष्पक विमान मौजूद था।’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने आगे कहा, ‘महाभारत काल में टीवी नहीं था इसके बावजूद संजय ने पूरे युद्ध का वर्णन किया। उस दौरान अर्जुन के बाणों में परमाणु शक्ति थी।’ उनका कहना है कि धृतराष्ट्र को महाभारत के युद्ध का आंखों देखा हाल सुनाने वाला संजय युद्ध के मैदान कुरुक्षेत्र से काफी दूर था और उसके पास कोई दिव्यदृष्‍टि भी नहीं थी। धनखड़ के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें काफी ट्रोल किया जा रहा है।

रामायण के समय में ही उड़न खटोला मौजूद था

बता दें कि महाकाव्य महाभारत में एक प्रसंग ऐसा भी है जहां हस्तिनापुर में बैठे नेत्रहीन महाराज धृतराष्ट्र को संजय कुरुक्षेत्र में लड़े जा रहे महाभारत के युद्ध का आंखों देखा हाल सुनाता है। संजय को द‌िव्यदृष्टि प्राप्त थी जिसके जरिए वह ऐसा कर पाया। इसी प्रसंग पर बात करते हुए धनखड़ ने आगे कहा कि दुनिया भारत की अनदेखी नहीं कर सकती। भारत के धर्मग्रन्थों से पता चलता है कि जिन चीजों का आविष्कार पूरी दुनिया में काफी बाद में हुआ वह भारत में हजारों वर्षों पूर्व मौजूद थी। 1910 या 1911 में विमान का अविष्कार किया गया था लेकिन हमारे पास रामायण के समय में ही उड़न खटोला मौजूद था।

समाज पर पड़ सकता है नकारात्मक प्रभाव

वहीं, कई लोग धनखड़ के इस बयान की आलोचना कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि किसी राज्यपाल द्वारा इस तरह का बयान दिया जाना समाज को गलत तरीके से प्रभावित करता है। इसलिए उन्हें इस तरह के बयान देने से बचना चाह‌िए। पद्म भूषण और पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित परमाणु भौतिक वैज्ञानिक बिकाश सिन्हा ने कहा कि राज्यपाल द्वारा ऐसी बातें सुनकर हमें हैरानी होती है। कल को वे यह भी कह सकते हैं कि महाभारत कालीन श्रीकृष्‍ण का चक्र हाइड्रोजन बम की शक्तियों से युक्त था। एक राज्यपाल को लोग सुनते हैं। उन्हें अपने पद का ध्यान रखना चाहिए। उनके बयान का यही अर्थ निकलता है कि नया कुछ भी नहीं हैं, हम अतीत में ही सबकुछ हासिल कर चुके थे। मुझे डर है कि इस तरह की बातों से समाज पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 547 नये मामले आए सामने, कुल 6412 हुए संक्रमित

नयी दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों के बचाव के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच देश में पिछले 24 आगे पढ़ें »

बंगाल में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12 नये मामले आए सामने

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 12 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

ऊपर