परिसेवा स्वाभाविक होने के बावजूद मेट्रो के 2 लाख यात्री हुए कम

कोलकाता : कोरोना वायरस के बाद मेट्रो परिसेवाएं सामान्य हुई हैं। मेट्रो परिसेवा रात 10:30 बजे तक सक्रिय रहती है। दिन भर में 284 अप-डाउन ट्रिप चल रही है। लेकिन इन सबके बावजूद मेट्रो यात्रियों की संख्या नहीं बढ़ रही है। शहर की लाइफलाइन मेट्रो परिसेवा में पहले की तुलना में एक दिन में दो लाख यात्रियों की गिरावट आई है। अधिकारी इस बारे में भी सोच रहे हैं। सड़कों पर बसों, ऑटो और टैक्सियों की कमी के बावजूद मेट्रो में भीड़ नहीं बढ़ रही है। स्कूल-कॉलेज खुलने से पहले यात्रियों की संख्या 3 लाख के आंकड़े को पार नहीं करती थी। अब यह भी थोड़ा बढ़ गया है। मेट्रो रेलवे के सूत्रों के मुताबिक जहां पहले यात्रियों की औसत दैनिक संख्या 7 लाख से अधिक थी, अब यह 4 लाख 70 हजार से 4 लाख 90 हजार के आसपास है। लेकिन ट्रेनों की संख्या लगभग समान है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

26 जून को सिलीगुड़ी महकमा व राज्य के 6 वार्डों में उपचुनाव

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बुधवार को राज्य चुनाव आयोग के कार्यालय में राज्य के गृह सचिव बी.पी. गोपालिका के साथ राज्य चुनाव आयुक्त सौरभ दास के आगे पढ़ें »

ऊपर