पीएम के आश्वासन के बावजूद चक्रवात के लिए अब तक नहीं मिली आर्थिक मदद : ममता

momota

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को केंद्र सरकार पर चक्रवात ‘बुलबुल’ से प्रभावित इलाकों के लिए कोई आर्थिक मदद न देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आश्वासन के बावजूद अब तक कोई आर्थिक मदद नहीं मिली है। ममता राज्य विधानसभा में प्रश्न काल के दौरान बोल रहीं थी। वह पश्चिम बंगाल के तीन तटीय जिलों में चक्रवात ‘बुलबुल’ के कारण हुई तबाही के पैमाने को लेकर पूछे गए प्रश्नों का उत्तर दे रही थीं।

केंद्र सरकार से आज तक एक पैसा नहीं मिला
ममता ने कहा, ‘‘चक्रवात ‘बुलबुल’ के राज्य से टकराने के एक दिन बाद राज्य की मदद को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से ट्वीट किए जाने के बावजूद हमें केंद्र सरकार से आज तक एक पैसा नहीं मिला है। हालांकि, मदद के लिए गृह मंत्री ने भी ट्वीट किया था।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि नुकसान के परिमाण का आकलन करने तीन जिलों के दौरे पर आई केंद्रीय टीम को 23,000 करोड़ रुपये का एक अनुमान दिया गया था लेकिन केंद्र की तरफ से कोई निधि प्राप्त नहीं हुई है।

चक्रवात से 14 लाख हेक्टेयर से अधिक कृषि भूमि बर्बाद
मुख्यमंत्री ने कहा कि चक्रवात के कारण 14 लाख हेक्टेयर से अधिक कृषि भूमि बर्बाद हुई और प्राकृतिक आपदा में करीब 15 लोगों ने अपनी जान गंवाई। किसानों की मदद के लिए राज्य के वित्त विभाग से 1,200 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई। ममता ने कहा कि राज्य सरकार पान के पत्तों की खेती करने वाले प्रत्येक किसान को 5,000 रुपये देगी, जिन्होंने इस चक्रवात में बड़ा नुकसान झेला है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर