दिल्ली ने वंचित किया बंगाल को : ममता

कोलकाता : बंगाल के साथ केंद्र सरकार के संबंधों को लेकर एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कड़े शब्दों में केंद्र पर निशाना साधा तथा कहा कि बंगाल हमेशा से ही दिल्ली से वंचित रहा है। आर्थिक सहायता हो या सरकारी परियोजना बंगाल को केंद्र सरकार वंचित करती आयी है, बावजूद इसके राज्य सरकार अपने दम पर समस्त सरकारी परिसेवाओं को जनता तक पहुंचाने की सफल को​शिश करती आयी है। ममता ने पीएम-केयर्स फंड पर भी सवाल उठाया तथा कहा कि आखिर वह राशि गयी कहां, प्रधानमंत्री उसका जवाब दें। क्या किसी को इस निधि के भविष्य के बारे में जानकारी है? उन्होंने कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए हमें क्या दिया है।

बांग्ला सीखने से बंगाल का नहीं हो सकते
ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि बांग्ला सीखने या बोलने भर से कोई बंगाल का नहीं हो सकता है। मुझे भी गुजराती बोलना आता है, और भी कई भाषाओं की जानकारी है। इसमें कोई बड़ी बात नहीं है।

एक इंच जमीन नहीं छोडूंगी
ममता ने विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए कहा ​कि चुनाव जैसे-जैसे करीब आएगा एजेंसियों का डर उतना तेज किया जाएगा, आरोप लगाया जाएगा मगर इन सब से मुझे डर नहीं लगता। यह चुनावी जंग है जिसमें हार-जीत का फैसला सिर्फ जनता के हाथों में है। रही बात राजनीतिक दंगल की तो भाजपा को एक इंच जमीन भी नहीं मिलेगी।

केंद्र के इशारों पर नही चलेगी राज्य सरकार
ममता ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र की भाजपा नीत सरकार की इच्छा से काम नहीं करेगी। उन्होंने दावा किया कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति देश के अन्य कई राज्यों से बेहतर है। यहां की सरकार, पुलिस-प्रशासन आम जनता को ध्यान में रखकर काम करती है जबकि भाजपा नेता यहां आकर ओछी राजनीति कर लोगों को बांटने की कोशिश करते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता बनर्जी पर तंज – बंगाल के लोग अब चप्पल नहीं जूते पहनना चाहते हैं

कोलकाता : बंगाल के भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य के लोग हवाई चप्पल नहीं आगे पढ़ें »

गणतंत्र दिवस : राजभवन में ‘चाय पर मुलाकात’ कार्यक्रम, ममता बनर्जी भी पहुंची

कोलकाता : गणतंत्र दिवस के मौके पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की ओर से राजभवन में 'चाय पर मुलाकात’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आगे पढ़ें »

ऊपर